भारतीय फुटबाल टीम के मुख्य कोच स्टीफेन कोंस्टैनटाइन ने अपनी आईएसएल टीमों के साथ अभ्यास में व्यस्त 22 खिलाड़ियों को बुधवार को विश्व कप-2018 क्वालीफायर के अगले दो मैचों के लिए बुलाया। अखिल भारतीय फुटबाल महासंघ (एआईएफएफ) की ओर से बुधवार को जारी वक्तव्य के अनुसार, सभी खिलाड़ी चार अक्टूबर तक मुंबई में एकत्रित होंगे।Also Read - Bhalu Ka Football Match: जंगली भालुओं का फुटबॉल मैच कभी देखा है, ये Video देखकर हो जाएंगे हैरान

भारतीय टीम आठ और 13 अक्टूबर को क्रमश: तुर्कमेनिस्तान और ओमान के खिलाफ विश्व कप क्वालीफाइंग मैच खेलेगा। Also Read - ब्रिटिश प्रधानमंत्री ने EURO 2020 में हार के बाद इंग्लैंड के खिलाड़ियों पर हो रही नस्लीय टिप्पणी की निंदा की

हालांकि आईएसएल आयोजकों ने शुरुआत में खिलाड़ियों को क्वालीफाईंग मैचों के लिए भेजने से इनकार कर दिया, जिससे नया विवाद उठ खड़ा हुआ। Also Read - EURO 2020: पेनल्टी से चूकने वाले इंग्लैंड के तीन खिलाड़ियों के खिलाफ हुई नस्लीय टिप्पणी

इससे यह भी शंका उठ खड़ी हुई है कि क्वालीफाइंग के लिए घोषित टीम क्वालीफाइंग मैचों के लिए तैयारी भी नहीं कर पाएगी।

इसी वजह से 29 सितंबर को निर्धारित प्रशिक्षण शिविर का आयोजन नहीं किया जा सका। एआईएफएफ ने हालांकि बाद में बताया कि आईएसएल आयोजकों के साथ खिलाड़ियों को भेजने के लिए समझौता हो गया है।

आईएसएल का दूसरा संस्करण तीन अक्टूबर से शुरू हो रहा है और दूसरे संस्करण का पहला मैच मौजूदा चैम्पियन एटलेटिको डी कोलकाता और चेन्नइयन एफसी के बीच चेन्नई में खेला जाएगा।

क्वालीफाइंग के लिए भारतीय टीम : सुब्रता पॉल, करनजीत सिंह, गुरप्रीत सिंह संधु, अर्णब मंडल, संदेश झिंगन, आइबोरलांग खोंगजी, धनचंद्र सिंह, लालछुनमाविया, नारायण दास, राइनो एंटो, प्रीतम कोटल, यूगेनसोन लिंगदोह, केविन लोबो, सहनाज सिंह, जैकिचंद सिंह, प्रनॉय हालदर, फ्रांसिस फर्नाडीज, राउलिन बोर्गेस, बिकास जैयरू, जेजे लालपेखुला, रॉबिन सिंह, सुनील छेत्री।