बैंकॉक (1998) एशियाई खेलों में गोल्ड मेडल जीत चुके भारत के पूर्व बैंथमवेट मुक्केबाज डिंको सिंह (Dingko Singh) की कोविड-19 रिपोर्ट पॉजिटिव आया है. पहले से लीवर कैंसर से जूझ रहे इस मुक्केबाज की कोरोना संक्रमित की पुष्टि होने के बाद उनकी स्वास्थ्य संबंधी जटिलताएं और बढ़ गई हैं. डिंको को 1998 में अर्जुन पुरस्कार और 2013 में पद्म श्री से नवाजा गया था. Also Read - Coronavirus in Rajasthan Update: राजस्थान में नहीं थम रहा कोरोना से मौत का सिलसिला, मरने वालों की संख्या 450 के पार

41 वर्षीय इस मुक्केबाज को इस महीने के शुरू में रेडिएशन थेरेपी के लिए दिल्ली लाया गया था. लेकिन फिर से पीलिया होने की वजह से उन्हें अपने राज्य मणिपुर भेज दिया गया. सूत्र ने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘जब वह दिल्ली से रवाना हुए थे, वह जांच में नेगेटिव थे लेकिन मणिपुर जाने के बाद पॉजिटिव पाए गए.’ Also Read - Covid-19 in Mizoram Update: असम राइफल्स के चार जवान और NDRF के 10 कर्मी सहित 22 लोग कोरोना पॉजिटिव

मणिपुर सरकार ने रविवार को जारी प्रेस विज्ञप्ति में बताया कि कोविड-19 के पांच नए मामले सामने आए हैं जिसमें से एक इम्फाल पूर्व का मामला है जहां यह मुक्केबाज रहता है. राज्य सरकार कोविड-19 के मरीजों का नाम उजागर नहीं करती है. Also Read - सीएम केजरीवाल ने किया ट्वीट, बोले- दिल्ली में कोरोना के 9900 बेड पूरी तरह से फ्री हैं, अब ज्यादातर मरीज घर में ही हो रहे ठीक

राज्य सरकार ने कहा, ‘उनकी स्थिति स्थिर है और उन्हें रिम्स में क्षेत्रीय देखभाल संस्थान (इंफाल स्थित क्षेत्रीय चिकित्सा विज्ञान संस्थान) में स्थानांतरित कर दिया जाएगा.’

‘तब डिंको की नर्स पॉजिटिव आई थीं लेकिन वह रवाना होते हुए जांच में नेगेटिव थे’

डिंको से जुड़े सूत्र ने कहा, ‘उन्हें वहां अस्पताल में भर्ती कराया गया है, वह पहले ही एक जंग से लड़ रहे थे और अब यह भी. पिछले हफ्ते तक वह दिल्ली में थे, उनकी नर्स पॉजिटिव आई थीं लेकिन वह रवाना होते हुए जांच में नेगेटिव थे.’

मार्च में उनकी रेडिएशन थेरेपी होनी थी लेकिन राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के चलते इसमें विलंब हो गया. अप्रैल के अंतिम हफ्ते में भारतीय मुक्केबाजी महासंघ के इंतजाम के बाद उन्हें एयर एंबुलेंस में दिल्ली लाया गया था.

हालांकि उनकी थेरेपी फिर भी नहीं हो सकी क्योंकि उन्हें पीलिया हो गया और उन्हें फिर 2400 किमी की सड़क यात्रा से एंबुलेंस में मणिपुर ले जाया गया.

‘शायद उन्हें एंबुलेंस में ही संक्रमण हो गया’

सूत्र ने कहा, ‘शायद उन्हें एंबुलेंस में ही संक्रमण हो गया. मैं नहीं जानता, कुछ भी हो सकता है. मुझे लगता है कि जो भी दिल्ली में उनके संपर्क में आए थे, उन्हें भी पृथकवास में रहना होगा और कोविड-19 परीक्षण कराना होगा.’

2017 से ही लीवर कैंसर के लिए उपचार चल रहा है

डिंको का 2017 से ही लीवर कैंसर के लिए उपचार चल रहा है. डिंको भारतीय नौसेना में कार्यरत हैं और वह कोच के तौर पर भी काम करते थे लेकिन बीमारी के कारण उन्हें घर पर रहने पर मजबूर होना पड़ा.

मणिपुर में अब तक 71 कोविड-19 मामले सामने आए हैं

मणिपुर में अब तक 71 कोविड-19 मामले सामने आए हैं जिसमें से 11 इससे ठीक हो चुके हैं. अभी तक राज्य में इस महामारी से किसी की मौत नहीं हुई है.