सिडनी टेस्‍ट के पहले ही दिन भारतीय टीम के विकेटकीपर बल्‍लेबाज रिषभ पंत (Rishabh Pant) की विकेकीपिंग की पोल खुल गई. उन्‍होंने विल वुकोवास्‍की के दो कैच टपकाए, जिसके चलते वो अपने डेब्‍यू टेस्‍ट में अर्धशतक जमाने में कामयाब रहे. पूर्व मुख्‍य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद (MSK Prasad) ने पंत की विकेकीपिंग पर निशाना साधा.Also Read - कप्तानी छोड़ने के बाद Tim Paine ने क्रिकेट से अनिश्चितकालीन ब्रेक लिया; एशेज सीरीज से बाहर

मोहम्‍मद सिराज और रविचंद्रन अश्विन ने पुकोवास्‍की को आउट करने के मौके बनाए लेकिन रिषभ पंत (Rishabh Pant) के लचर प्रदर्शन के चलते भारत ने यह दोनों मौके गंवा दिए. Also Read - IPL 2022 Auction: दिल्‍ली कैपिटल्‍स ने श्रेयस अय्यर को किया रिलीज, रिषभ पंत सहित ये 4 क्रिकेटर्स हुए रिटेन

एमएसके प्रसाद (MSK Prasad) ने न्‍यूज एजेंसी आईएएनएस से बातचीत के दौरान कहा है कि पंत को अपनी फिटनेस के साथ-साथ विकेटकीपिंग के कौशल पर भी काम करने की जरूरत है. “सबसे पहले, उन्हें अपनी फिटनेस पर काम करना होगा, न कि केवल अपनी सामान्य फिटनेस पर बल्कि विकेटकीपिंग के लिए विशेष फिटनेस पर भी. गेंदों को पकड़ने के लिए विकेटकीपर दोनों तरफ मूवमेंट करना पड़ता है.” Also Read - स्टीव स्मिथ, पैट कमिंस ऑस्ट्रेलिया के अगले टेस्ट कप्तान के लिए सबसे उपयुक्त उम्मीदवार: नाथन लियोन

एमएसके प्रसाद (MSK Prasad) ने आगे कहा, “रिषभ पंत (Rishabh Pant) केवल कूद रहे हैं. यदि आप फिट हैं, तो आप दोनों तरफ मूव करेंगे. यदि आप फिट नहीं हैं, तो आप सिर्फ एक तरफ ही मूव करेंगे. उन्होंने पिछली बार ऑस्‍ट्रेलिया दौरे पर अच्छा प्रदर्शन किया था.”

“उन्हें वापस अपनी बुनियादी चीजों में सुधार करना होगा. उन्हें विकेटकीपिंग, रिएक्शन टाइम, पूवार्नुमान और गेंद को अंत तक देखने के कौशल में सुधार करना है.”

बता दें कि इससे पहले ऑस्‍ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पोटिंग ने भी पंत (Rishabh Pant) की खराब विकेटकीपिंग की आलोचना करते हुए गुरुवार को कहा कि पंत को अपनी विकेटकीपिंग पर बहुत काम करने की जरूरत है.

पंत इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) में दिल्ली कैपिटल्स की ओर से खेलते हैं और पोंटिंग इस टीम के कोच हैं. पोंटिंग ने क्रिकेट डॉट कॉम डॉट एयू से कहा, टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण के बाद से उन्होंने दुनिया में किसी अन्य विकेटकीपर से ज्यादा कैच छोड़े हैं. इससे लगता है कि उन्हें अपनी विकेटकीपिंग पर काम करने की जरूरत है.