टीम इंडिया के पूर्व क्रिकेटर अजय जडेजा (Ajay Jadeja) को गांव में गंदगी फैलाने के जुर्म में जुर्माना भरना पड़ा है. जडेजा पर सुरम्य गांव एल्डोना की सरपंच ने उन पर इस जुर्म के लिए 5000 रुपये का जुर्माना लगाया है. गांव की सरपंच तृप्ति बंदोदकर ने कहा कि 90 के दशक के इस स्टार क्रिकेटर ने बिना किसी हंगामें के जुर्माना भर दिया.Also Read - Commonwealth Games 1998: कैसा था टीम इंडिया का प्रदर्शन, किस टीम ने जीता गोल्‍ड ? यहां‍ मिलेगी विस्‍तृत जानकारी

बता दें 8 साल भारत के लिए इंटरनेशनल क्रिकेट खेलने वाले जडेजा उत्तरी गोवा के सुरम्य गांव एल्डोना में एक बंगले के मालिक हैं. इसी गांव में उन्होंने कचरा फेंका तो उन्हें जुर्माना भरना पड़ा है. वह इस कचरे में अपने नाम के एक बिल से पकड़े गए. हालांकि जडेजा ने यह गलती दोबारा नहीं दोहराने की बात भी कही है. Also Read - कोच बनने के बाद BCCI राहुल द्रविड़ को ये ना बताए कि टीम कैसे चलानी है: अजय जडेजा

सरपंच ने कहा, हम अपने गांव में कचरे के मुद्दे से त्रस्त हैं. बाहर से भी कचरा गांव में डाला जाता है, इसलिए हमने कुछ युवाओं को कचरा बैग इकट्ठा करने और दोषियों की पहचान करने के लिए किसी भी सबूत के लिए स्कैन करने के लिए नियुक्त किया है. Also Read - पाकिस्‍तान से हार के बाद Virat Kohli के बयान ने Ajay Jadeja हुए नाराज, बोले- यह उनकी अप्रोच को दर्शाता है

बंदोदकर ने कहा, ‘हमें कचरे के कुछ बैगों में अजय जडेजा के नाम पर एक बिल मिला. जब हमने उन्हें भविष्य में गांव में कचरा नहीं फेंकने के लिए कहा, तो उन्होंने कहा कि वह जुर्माना देने को तैयार हैं. इसलिए उन्होंने भुगतान किया.’

उन्होंने कहा, ‘हमें गर्व है कि ऐसी हस्ती, एक लोकप्रिय क्रिकेट खिलाड़ी, हमारे गांव में रहता है, लेकिन ऐसे लोगों को कचरा मानदंडों का पालन करना चाहिए.’ बता दें एल्डोना गांव कई मशहूर हस्तियों का घर है, जिनमें जडेजा और लेखक अमिताभ घोष शामिल हैं.

(इनपुट: आईएएनएस)