1971 में वेस्‍टइंडीज और इंग्‍लैंड में एतिहासिक जीत दर्ज करने वाले स्‍क्‍वाड का हिस्‍सा रहे 71 साल के तेज गेंदबाज देवराज गोविंदराज की खराब आर्थिक मदद को देखते हुए भारतीय क्रिकेटर संघ (ICA) मदद के लिए आगे आया है. संघ ने उन्‍हें 80 हजार रुपये की मदद दी. देवराज गोविंदराज (Devraj Govindraj) ने 93 प्रथम श्रेणी मैचों में 190 विकेट चटकाये, हालांकि उन्हें एक भी मैच खेलने का मौका नहीं मिला. वह इंग्लैंड में बसे थे लेकिन फिर भारत लौट आये.Also Read - आज भी मध्यक्रम में महेंद्र सिंह धोनी और युवराज सिंह के विकल्प नहीं ढूंढ पाई है टीम इंडिया: हरभजन सिंह

संघ के अध्यक्ष अशोक मल्होत्रा ने कहा, ‘‘आईसीए को संन्यास ले चुके प्रथम श्रेणी क्रिकेटरों और विधवाओं से वित्तीय मदद के लिये कुल 52 आवेदन (पुरूष और महिला) (Devraj Govindraj) मिले. आईसीए के निदेशक बोर्ड के पांच सदस्यों ने 36 जरूरतमंद, संन्यास ले चुके क्रिकेटरों/विधवाओं को वित्तीय मदद की मंजूरी दी.’’ Also Read - IND vs SA- लगातार 2 मैच हारकर वनडे सीरीज हारा भारत, ये रहीं कमजोर कड़ियां

हालांकि गोविंदराज सात अन्य (पुरूष और महिला) के साथ बी वर्ग में शामिल हैं जिन्हें प्रत्येक को 80,000 रूपये की मदद दी जायेगी.
वहीं ए वर्ग में 20 लोगों (11 पुरूष और नौ महिलायें) में उत्तर प्रदेश और दिल्ली के पूर्व खिलाड़ी शामिल हैं जिन्हें एक लाख की मदद दी जायेगी जबकि तीसरे वर्ग में आठ लोगों को 60-60 हजार की सहायता मिलेगी. Also Read - IND vs SA- यह हमारे घर जैसी पिच, उम्मीद नहीं थी कि वे इतनी असानी से हमें हरा देंगे: KL Rahul

आईसीए ने इस स्वास्थ्य संकट के बीच पूर्व खिलाड़ियों की मदद के लिये 15 मई तक 57 लाख रूपये इकट्ठा कर लिये थे. इसमें पूर्व खिलाड़ी सुनील गावस्कर और कपिल देव ने भी वित्तीय योगदान दिया है. भारत की पहले खिलाड़ी संघ आईसीए से 1,750 पूर्व क्रिकेटर पंजीकृत हैं.