भारतीय फुटबाल टीम के पूर्व कप्तान चुन्नी गोस्वामी का गुरुवार को कोलकाता के एक अस्पताल में निधन हो गया। वो 82 वर्ष के थे। उनके परिवार में पत्नी और बेटा हैं। गोस्वामी 1962 एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाली भारतीय टीम के कप्तान थे और बंगाल के लिए प्रथम श्रेणी क्रिकेट भी खेले थे। Also Read - Hina Khan Father Passed Away: रमजान में बुरी खबर, हिना खान के पिता का निधन, नहीं चाहते थे बेटी एक्ट्रेस बने

वह पिछले कुछ समय से मधुमेह, प्रोस्ट्रेट और तंत्रिका तंत्र संबंधित बीमारियों से जूझ रहे थे। वह आई लीग क्लब मोहन बागान क्लब के लिए भी खेल चुके हैं। उनकी कप्तानी में भारत ने 1962 एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक जीते थे और 1964 में एशियन कप में उपविजेता भी रहा था। Also Read - स्‍वस्‍थ होने के बाद गोल्‍फ खेलने पहुंचे कपिल देव, वीडियो संदेश जारी कर कही ये बात

फुटबॉलर ही नहीं क्रिकेटर भी थे गोस्वामी

गोस्वामी ने ना केवल अपनी कप्तानी में भारतीय फुटबॉल टीम को स्वर्ण पदक जिताने के साथ बंगाल की रणजी टीम को टूर्नामेंट के फाइनल तक भी पहुंचाया था। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने भी इस पूर्व खिलाड़ी को श्रृद्धांजलि दी। Also Read - कांग्रेस प्रवक्ता राजीव त्यागी की चैनल पर डिबेट के ठीक बाद ह्रदय गति रुकी, हुआ निधन

बीसीसीआई ने ट्वीट किया, “BCCI सर्वकालिक ऑलराउंडर चुन्नी गोस्वामी के निधन पर शोक व्यक्त करता है। उन्होंने भारतीय राष्ट्रीय फुटबॉल टीम की कप्तानी की और उन्हें 1962 के एशियाई खेलों में स्वर्ण दिलाया। बाद में उन्होंने बंगाल के लिए प्रथम श्रेणी क्रिकेट खेला और उन्हें 1971-72 में रणजी ट्रॉफी के फाइनल में पहुंचाया।”