लाहौर : पूर्व कप्तान मिस्बाह उल हक को पाकिस्तान क्रिकेट टीम के 17 दिनों के शिविर के लिए ‘कैम्प कमांडेंट’ बनाया गया है. पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) द्वारा जारी बयान के मुताबिक, सीजन से पहले यह शिविर आने वाले घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर होने वाले टूर्नामेंट की तैयारी के लिए आयोजित किया गया है. पाकिस्तान का घरेलू सीजन संभवत: 12 सितंबर से कैद-ए-आजम ट्रॉफी से शुरू होगा.

इस शिविर के लिए 14 केंद्रीय अनुबंधित खिलाड़ी और छह अतिरिक्त खिलाड़ी बुलाए गए हैं, जो लाहौर स्थित राष्ट्रीय खेल अकादमी (एनसीए) में 19 अगस्त को पहुंचेगे. दो दिन के फिटनेस टेस्ट के बाद शिविर 22 अगस्त से शुरू होगा और सात सितंबर तक चलेगा. मिस्बाह इस शिविर का ट्रेनिंग प्रोग्राम बनाएंगे.

पीसीबी ने फैसला किया है कि वह कोच मिकी आर्थर और पूरे कोचिंग स्टाफ का कार्यकाल नहीं बढ़ाएगी. मीडिया में ऐसी अटकलें हैं कि मिस्बाह को यह काम दिया जा सकता है.

पीसीबी के अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट निदेशक जकीर खान ने कहा, ‘पाकिस्तान के सबसे सफल कप्तान मिस्बाह उल हक इन दिनों में हर प्रारूप की जरूरतों को समझते हैं. टेस्ट चैम्पियनशिप की शुरुआत के कारण पीसीबी चाहती है कि पाकिस्तान दो मैचों की टेस्ट सीरीज में श्रीलंका के सामने अपनी सर्वश्रेष्ठ टेस्ट टीम के साथ उतरे.’