भारतीय क्रिकेट टीम का सबसे सफल कप्तान बनने के मामले में महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) अपने सीनियर सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) के एक कदम आगे निकले गए हैं। लेकिन पूर्व श्रीलंकाई कप्तान कुमार संगाकारा (Kumar Sangakkara) का कहना है कि धोनी की सफलता के पीछे गांगुली का भी बड़ा योगदान था।Also Read - T20 World Cup: भारत को हराने का ख्वाब ही देखता रह गया Pakistan, जानिए T20 World Cup में कैसा रहा इतिहास?

स्टार स्पोर्ट्स के एक कार्यक्रम के दौरान संगाकारा ने कहा, “आपको कई चीजों के पैमाने पर आंका जा सकता है लेकिन कभी कभार आपको कुछ पीछे छोड़ना होता है। दादा ने दूसरों के लिए एक शानदार विरासत तैयार की थी और एमएस को भी इससे फायदा हुआ।” Also Read - India vs Pakistan: रमीज राजा ने सौरव गांगुली से की मुलाकात, बोले- कड़वे रिश्‍तों के बीच शुरू हो द्विपक्षीय सीरीज...

उन्होंने कहा, “एमएस एक शानदार खिालड़ी हैं, अविश्वसनीय कप्तान हैं और भारतीय क्रिकेट को आगे लेकर गए हैं। लेकिन उसकी नींव दादा ने रखी थी।” Also Read - T20 World Cup 2021- MS धोनी से बेहतर 'मेंटॉर' कोई हो नहीं सकता: KL Rahul

इस शो के दौरान संगाकारा के साथ मौजूद पूर्व दक्षिण अफ्रीकी कप्तान ग्रीम स्मिथ (Graeme Smith) ने कहा, “दादा और एमएस की कप्तान के बीच का अंतर एमएस ही हैं। मध्य क्रम में मैच को खत्म करने और जीतने की जो क्षमता वो अपने साथ लाया था। मेरे लिए वो उन दो नायकों के बीच का सबसे बड़ा अंतर एमएस धोनी ही है।”

उन्होंने कहा, “अगर दादा के पास एमएस जैसा खिलाड़ी होता, उसकी टीम थोड़ी और विकसित होती है। आप उनके पास कुछ और ट्रॉफी देखते। दादा खुशकिस्मत थे और नहीं भी थे कि वो उस समय में खेले जब ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट अपने शीर्ष पर था और विश्व क्रिकेट पर हावी था और उस समय पर बहुत सारे मैच जीत रहा था।”