शनिवार को महिला एकल खिताब जीतने के एक दिन बाद चेक गणराज्य की बारबोरा क्रेसीकोवा (Barbora Krejcikova) ने रविवार को दोहरी सफलता हासिल करते हुए हमवतन कैटरिना सिनियाकोवा (Katerina Siniakova) के साथ मिलकर युगल खिताब भी अपने नाम कर लिया।Also Read - Tokyo Olympics 2020: सेमीफाइनल में हारीं PV सिंधू; रविवार को कांस्य पदक के लिए खेलेंगी

दूसरी सीड चेक गणराज्य की जोड़ी ने महिला युगल वर्ग के फाइनल में 14वीं सीड पोलैंड की इगा स्विएतेक (Iga Swiatek) और अमेरिका की बैथनी मैटेक सेंडस (Bethanie Mattek-Sands) की जोड़ी को एक घंटे 14 मिनट तक चले मुकाबले में 6-4 6-2 से हराकर खिताब पर कब्जा जमाया। Also Read - Tokyo Olympics 2020: गोल्ड में बदल सकता है भारतीय भारोत्तोलक मीराबाई चानू का सिल्वर मेडल, ये है पूरा मामला

महिला युगल की बात की जाए तो बारबोरा और कैटरीना का एक साथ ये तीसरा खिताब है। 2018 में इन्होंने यहां अपना पहला युगल खिताब जीता था और इसके बाद अगले ही महीने विंबलडन की भी चैंपियन बनीं थी। Also Read - Tokyo Olympics 2020: मांसपेशियों में खिंचाव के कारण सिंगल स्पर्धा से हटे एंडी मर्रे; अब डबल्स पर होगा पूरा ध्यान

बारबोरा का अब तक का ये सातवां खिताब है। वो मौजूदा दौर में एकमात्र एक्टिव खिलाड़ी हैं, जिन्होंने किसी एक सीजन में एकल, युगल और मिश्रित वर्ग में कोई ग्रैंड स्लैम खिताब जीता है। उनसे पहले फ्रांस की मैरी पियसे ने 2000 में एक सीजन में दो खिताब जीते थे।

बारबोरा ने शनिवार को रूस की अनासतासिया पावलिउचेंकोवा को हराकर महिला एकल वर्ग का खिताब जीता था। बारबोरा इतिहास में मात्र सातवीं ऐसी महिला खिलाड़ी बन गई हैं, जिन्होंने रोलां गैरों में एकल और युगल खिताब जीते हैं।

उनसे पहले पिछली बार 2016 में अमेरिका की सेरेना विलियम्स ने विंबलडन में महिला एकल और युगल वर्ग का खिताब जीता था। इस जीत के साथ ही बारबोरा सोमवार को जारी होने वाली डब्ल्यूटीए की युगल रैंकिंग में नंबर एक खिलाड़ी बन जाएंगी।

बारबोरा ने कहा, “मैं बहुत खुश हूं। मैं कैटरिना की शुक्रगुजार हूं जो यहां मेरे साथ थीं। कल के मुकाबले की तुलना में आज चीजें ज्यादा आसान थी। मुझे खुशी है कि हमारे नाम पर एक और खिताब जुड़ गया है। हम आगे विंबलडन और ओलंपिक में इस प्रदर्शन को बरकरार रखने के लिए उत्साहित हैं। मैं उम्मीद करती हूं कि हमारा भविष्य उज्वल रहे।”