लगातार दो मैच हारने के बाद डेविड वार्नर (David Warner) की सनराइजर्स हैदराबाद (SRH) टीम दिल्ली कैपिटल्स (Delhi Capitals) के खिलाफ मंगलवार को खेले गए मैच के लिए प्लेइंग इलेवन में बड़े बदलाव किए। कीवी कप्तान केन विलियमसन (Kane Williamson) के टीम में शामिल करने के साथ सनराइजर्स ने जम्मू-कश्मीर के युवा खिलाड़ी अब्दुल समद (Abdul Samad) को भी प्लेइंग इलेवन में जगह दी।Also Read - IND vs SL: पहला वनडे जीतकर कप्तान Shikhar Dhawan ने की IPL की तारीफ

पांचवें नंबर पर खेलने उतने समद ने एक छक्के और चौके की मदद से 7 गेंदो पर 12 रन की नाबाद पारी खेली। मैच के बाद सोशल मीडिया पर इस 18 साल के बिग-हिटर के बल्लेबाज को लेकर खूब चर्चा हुई। तो आखिर अब्दुल समद कौन हैं? और जम्मू-कश्मीर से आईपीएल 2020 तक का उनका सफर कैसा रहा? Also Read - IPL vs PSL: शोएब अख्‍तर से पूछा गया कौन सी क्रिकेट लीग है बेहतर, दिया मजेदार जवाब

कौन हैं अब्दुल समद? Also Read - विराट कोहली ICC ट्रॉफी तो छोड़िए वो आज तक IPL तक नहीं जीत पाए हैं: सुरेश रैना

समद इंडियन प्रीमियर लीग में खेलने वाले चौथे कश्मीरी क्रिकेटर हैं। समद पहली बार चर्चा में तब आए थे जब उन्होंने 2019-20 के रणजी ट्रॉफी सीजन के दौरान कश्मीर के लिए 17 पारियों में 113 की स्ट्राइक रेट से 592 रन बनाए थे। साथ ही वो टूर्नामेंट में कश्मीर की ओर से सर्वाधिक 36 छक्के लगाने वाले बल्लेबाज बने। विस्फोटक बल्लेबाजी के साथ साथ समद लेग स्पिन गेंदबाजी भी करते हैं।

समद के करियर में इरफान पठान की भूमिका

इस प्रतिभाशाली खिलाड़ी को जरूरत थी सही मार्गदर्शन की, जो उन्हें भारतीय तेज गेंदबाज इरफान पठान (Irfan Pathan) से मिला। बड़ौदा टीम को छोड़ मेंटोर-खिलाड़ी के तौर पर जम्मू-कश्मीर टीम से जुड़े पठान ने टीम के कोच मिलाप मेवडा के साथ मिलकर साल 2018 में 16 साल के समद को टीम ट्रायल के दौरान देखा और उनकी प्रतिभा को पहचाना।

ईएसपीएन क्रिकइंफो को दिए बयान में पठान ने इस खिलाड़ी के बारे में कहा था, “वो बड़ी आसानी से गेंद को हिट कर रहा था। लेकिन जब मैं उसके आंकड़ों को देखा तो उनके खाते में एक भी अर्धशतक नहीं था। मैंने उसे अपने पास बुलाया और कहा कि उसे संभावित खिलाड़ियों की सूची में डाला जाएगा लेकिन उसे अपने विकेट को बचाने पर काम करना होगा। बात केवल बड़े छक्के लगाने की नहीं है।”

आईपीए 2020 तक कैसे पहुंचे?

जब सनराइजर्स के मेंटोर वीवीएस लक्ष्मण 13वें सीजन की नीलामी से पहले अपनी टीम के कमजोर मध्यक्रम को सुदृढ़ बनाने के लिए बल्लेबाजों की खोज में लगे थे तो उनके अंडर-19 साथी खिलाड़ी मेवडा ने समद का ना सुझाया। जिसके बाद सनराइजर्स ने दिसंबर 2019 में हुई नीलामी के दौरान समद को 20 लाख के बेस प्राइस पर खरीदा। यहां से आईपीएल 2020 में समद का सफर शुरू हुआ।