पूर्वी लद्दाख के गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ हिंसक झड़प में कम से कम 20 भारतीय सैनिक शहीद हुए हैं. सोमवार रात हुए इस संघर्ष को लेकर मंगलवार दोपहर में सरकार ने कहा था कि केवन तीन सैनिक शहीद हुए हैं. इसके बाद मंगलवार देर रात सरकार ने शहीद हुए सैनिकों की संख्या 20 बताई. Also Read - ‘1999 के चेन्‍नई टेस्‍ट में सचिन का शतक मुलतान में सहवाग के 309 से ज्‍यादा बड़ा है’

चीन के इस करतूत से भारतीय क्रिकेटर्स भी गुस्से में हैं। भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व विस्फोटक सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने शहीद हुए कर्नल संतोष बाबू को श्रद्धांजलि देते हुए ट्वीट किया, ‘ उम्मीद है कि चीनी सुधर जाएं। Also Read - LoC पार लॉन्‍चपैड्स में 250-300 आतंकवादी कश्‍मीर में घुसपैठ के लिए तैयार बैठे हैं: आर्मी


टीम इंडिया के बाएं हाथ के अनुभवी ओपनर शिखर धवन ने भी ट्वीट कर भारतीय शहीदों को श्रद्धांजलि दी। धवन ने लिखा, ‘ देश इन वीरों की शहादत को कभी नहीं भूला सकेगा। मैं इनके परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं। आपकी वीरता को मैं सलाम करता हूं। जय हिंद!’


पिछले पांच दशक से भी ज्यादा समय में सबसे बड़े सैन्य टकराव के कारण क्षेत्र में सीमा पर पहले से जारी गतिरोध और भड़क गया है. वर्ष 1967 में नाथू ला में झड़प के बाद दोनों सेनाओं के बीच यह सबसे बड़ा टकराव है. उस वक्त टकराव में भारत के 80 सैनिक शहीद हुए थे और 300 से ज्यादा चीनी सैन्यकर्मी मारे गए थे.