टीम इंडिया के क्रिकेटरों गौतम गंभीर और आशीष नेहरा ने श्रीलंका के पूर्व कप्तान अर्जुन रणतुंगा द्वारा वर्ल्ड कप 2011 के फाइनल के फिक्स होने के आरोपों को खारिज करते हुए इसे अपमानजनक करार दिया है. ये दोनों 2011 का वर्ल्ड कप जीतने वाली भारतीय क्रिकेट टीम के सदस्य थे.

रणतुंगा ने हाल ही में फेसबुक पर पोस्ट एक वीडियो में कहा था, टमैं उस समय कॉमेंट्री के लिए भारत में था, जब हम हारे, मैं बहुत निराश था और मुझे शक था. हमें इस बात की जांच करनी चाहिए कि 2011 के फाइनल में श्रीलंका को क्या हुआ था. मैं अभी सब बातों का खुलासा नहीं कर सकता, लेकिन एक दिन मैं करूंगा. इसकी जांच होनी चाहिए.’

2011 वर्ल्ड कप फाइनल में 97 रन बनाने वाले गंभीर ने रणतुंगा के इन आरोपों पर हैरानी जताते हुए कहा, ‘मैं अर्जुन रणतुंगा के आरोपों से हैरान हूं. इंटरनेशनल क्रिकेट में एक सम्मानित व्यक्ति की ये एक गंभीर टिप्पणी है. मेरे ख्याल में स्थिति को स्पष्ट करने के लिए उन्हें अपने दावों के लिए सबूत देने चाहिए.’

2011 वर्ल्ड कप विजेता भारतीय टीम का हिस्सा रहे आशीष नेहरा ने कहा कि इस तरह के बयानों पर ध्यान नहीं देना चाहिए. नेहरा ने कहा, मैं इस मुद्दे पर अपनी राय रखकर रणतुंगा की टिप्पणी को आगे नहीं बढ़ाना चाहता हूं. इस तरह के बयानों को कोई अंत नहीं होता है. अगर मैं श्रीलंका की 1996 की वर्ल्ड कप जीत पर सवाल करूं तो क्या ये अच्छा लगेगा? तो इसलिए इसमें नहीं जाते हैं. लेकिन हां अगर उनसे जैसे व्यक्तित्व वाला ऐसा कुछ कहता है तो ये निराशाजनक होता है.

ये पहली बार नहीं है जब रणतुंगा ने 2011 वर्ल्ड कप फाइनल को लेकर सवाल उठाए हैं. इससे पहले भी वह कई मंचों पर इस बात पर हैरानी जता चुके है कि कैसे वर्ल्ड कप फाइनल से ठीक पहले कई खिलाड़ी चोटिल हो गए और फाइनल से बाहर हो गए.