प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मोदी (PM Narendra Modi) ने लोगों से अपील की थी कि कोरोनावायरस के खिलाफ देश के लोग रविवार को रात नौ बजे घरों की लाइटें बंद कर नौ मिनट तक मोमबत्ती, दीपक जलाएं। पीएम के इस आह्वान का पालन भी किया गया और 5 अप्रैल को रात 9 बजे लगभग पूरे देश में दीपक जले लेकिन इस कार्यक्रम में खलल तब पड़ा जब लोगों ने मोमबत्ती या दिए की बजाय बेवजह पटाखे फोड़ना शुरू कर दिया। Also Read - मोदी सरकार 2.0 की पहली वर्षगांठ, 6 साल पूरे होने पर भाजपा करेगी 'आभासी रैलियों' का आगाज, गिनाएगी उपलब्धियां

पूर्व भारतीय सलामी बल्लेबाज और भाजपा सांसद गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) ने ऐसे लोगों को जमकर फटकारा। उन्होंने ट्विटर पर लिखा, “भारत, अंदर रहिए। हम अभी लड़ाई के बीच में हैं। ये पटाखे जलाने का मौका नहीं है।” Also Read - 20 Lakh Crore Economic Package खुदरा दुकानदारों के लिए मोदी सरकार का बड़ा ऐलान, जल्द ही मिलने वाला है यह बड़ा फायदा

गंभीर ने कोरोनावायरस के खिलाफ लड़ाई में दिल्ली सरकार को फिर से 50 लाख रुपये की मदद की है। पूर्वी दिल्ली से सांसद गंभीर इससे पहले, अपने सांसद फंड से एक करोड़ रुपये की राशि कर चुके हैं। इसके अलावा उनका गौतम गंभीर फाउंडेशन भी गरीब लोगों को खाना बांट रहा है। Also Read - राहुल गांधी ने कोविड-19 के खिलाफ लॉकडाउन को बताया Fail, बोले- आगे की रणनीति बताए मोदी सरकार

गंभीर ने एक पत्र में लिखा, ” दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के द्वारा यह कहा गया है कि दिल्ली के विभिन्न अस्पतालों में मेडिकल से संबंधित चीजें खरीदनें के लिए फंड की जरूरत है।

उन्होंने आगे लिखा, “मैं दो सप्ताह पहले ही 50 लाख रुपये की मदद कर चुका हूं और अपने अपने सांसद निधि फंड से और 50 लाख रुपये की मदद करना चाहूंगा। मुझे उम्मीद है कि इस राशि का इस्तेमाल कोरोना की लड़ाई में मेडिकल सामान खरीदने के लिए की जाएगी। संकट की इस घड़ी में दिल्ली के नागरिकों की मदद करना हमारा सबसे बड़ा फर्ज है।”