पूर्व लेग स्पिनर दानिश कनेरिया से हिन्‍दू होने के कारण पाकिस्‍तान टीम में भेदभाव होने की बात सामने आने के बाद भारत में राजनीति भी गर्मा गई है. पूर्व क्रिकेटर व मौजूदा समय में बीजेपी सांसद गौतम गंभीर ने शुक्रवार को इसपर कड़ी प्रतिक्रिया दी.

गौतम गंभीर ने कहा, “पाकिस्‍तान का यही सही चेहरा है. वहीं, दूसरी तरह हमारे पास भारतीय टीम का उदाहरण है. अजहरुद्दीन मुस्लिम होने के बावजूद भारतीय टीम की लंबे समय तक कप्‍तानी करते रहे.”

पढ़े:- पत्नी-बेटी की ड्यूटी में लगे रोहित, फैमिली संग छुट्टियां बिता रहे वर्ल्ड क्रिकेट के सितारे

यह मामला उस वक्‍त शुरू हुआ जब एक टीवी शो के दौरान शोएब अख्‍तर ने अपने समय में दानिश कनेरिया के साथ भेदभाव होने की बात कही. शोएब अख्‍तर का कहना था कि उन्‍होंने टीम के अन्‍य खिलाड़ियों द्वारा केवल हिन्‍दू होने की वजह से दानिश कनेरिया के साथ भेदभाव का पुरजोर विरोध किया था.

अख्‍तर के बयान के बाद पाकिस्‍तान में भी इस मामले ने तूल पकड़ी, जिसके बाद दानिश कनेरिया ने भी इसपर प्रतिक्रिया दी. कनेरिया ने अपने बयान में कहा है कि लंबे समय से वह पाकिस्तान और दुनिया भर में कई लोगों से संपर्क कर अपनी समस्याओं का समाधान करवाने की गुजारिश की लेकिन किसी ने उनकी मदद नहीं की. इसके इतर पाकिस्तान के कई अन्य क्रिकेटर्स के मामले सुलझाए गए.

पढ़ें:- ऑस्ट्रेलिया दौरे से पहले परिवार संग खास पल बिता रहे हैं स्टार बल्लेबाज रोहित शर्मा, देखें फोटोज

‘‘मेरी हालत बहुत खराब है और मैंने पाकिस्तान और दुनियाभर में कई लोगों से मदद की गुहार लगाई है लेकिन अभी तक मुझे कोई मदद नहीं मिली है. हालांकि पाकिस्तान में कई क्रिकेटरों की समस्याओं को सुलझाया गया है. मैंने एक क्रिकेटर के नाते पाकिस्तान के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया और मुझे इसका गर्व है. मुझे लगता है कि इस वक्त पाकिस्तान के लोग मेरी मदद करेंगे. मुझे कई महान पाकिस्तानी और दुनियाभर के क्रिकेटर्स जिनमें प्रधानमंत्री इमरान खान भी शामिल हैं, से मुझे इस मुश्किल से बाहर निकालने के लिए मदद मांगी है.’