टीम इंडिया के स्पिन गेंदबाज कुलदीप यादव (Kuldeep Yadav) का कहना है कि इंडियन प्रीमियर लीग फ्रेंचाइजी कोलकाता नाइट राइडर्स में शुरुआती दिनों में कप्तान गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) और गेंदबाजी कोच वसीम अकरम (Wasim Akram) का उनके ऊपर काफी प्रभाव रहा। Also Read - 'मुझे टीम इंडिया में नहीं लेंगे चयनकर्ता क्योंकि उन्हें लगता है कि मैं बूढ़ा हूं'

गंभीर की कप्तानी में ही कोलकाता ने 2012 और 2014 नें आईपीएल खिताब जीता था। कुलदीप का कहना है कि गंभीर ने उन्हें टीम में चुने जाने को लेकर आश्वसन दिया था जबकि अकरम ने उन्हें मैच के लिए मानसिक तौर कर तैयारी करने में मदद की थी। Also Read - हरभजन सिंह ने टीम इंडिया में वापसी की भरी हुंकार, बोले- T20 तो खेल ही सकता हूं

फ्रेंचाइजी की आधिकारिक वेबसाइट पर कुलदीप के हावले से लिखा है, “नाइट राइडर्स में शुरुआती दिनों में गौती भाई का मुझ पर काफी प्रभाव रहा था। वो हमेशा मुझसे काफी बात करते थे। सिर्फ नाइइट राइडर्स में ही नहीं बल्कि टीम से जाने के बाद भी वो मुझसे बात करते हैं।” Also Read - पाकिस्तानी कोच और मुख्य चयनकर्ता की ICC से गुहार, T20 वर्ल्ड कप को लेकर जल्दबाजी में ना करे कोई फैसला

उन्होंने कहा, “उन्होंने हमेशा मुझे प्रेरित किया। चैपियंस लीग-2014 से पहले उन्होंने मुझे भरोसा दिया था कि मैं हर मैच खेलूंगा। जब आपको कप्तान से इस तरह का भरोसा मिल जाता है तो ये काफी बड़ी बात होती है। इससे आपको आत्मविश्वास मिलता है और आप अच्छा प्रदर्शन करते हो।”

अकरम को लेकर कुलदीप ने कहा, “वसीम अकरम सर मुझे काफी पसंद करते थे। वो मुझसे गेंदबाजी को लेकर ज्यादा बात नहीं करते थे, बल्कि वो मुझे मानसिक तौर पर तैयार करते थे। वो मुझे बताते थे कि जब बल्लेबाज तुम्हें दबाव में डाले तो आपको क्या करना चाहिए।”