नई दिल्ली. गेल… गेल… गेल… ये नाम है क्रिकेट जगत के यूनिवर्स बॉस का. ये नाम है T20 क्रिकेट के ब्रैडमैन का. वर्ल्ड क्रिकेट में इस नाम को सुनकर ही गेंदबाजों को नानी याद आ जाती हैं. ऐसा क्यों होता है इसका एक शानदार नमूना मोहाली के मैदान पर देखने को मिला. जहां विस्फोटक हेनरी गेल ने शतक जमाकर अपने आलोचकों के मुंह पर ताला जड़ दिया. 58 गेंदों पर IPL-11 का पहला शतक जमाकर गेल ने बता दिया कि उनके रनों की भूख अभी खत्म नहीं हुई है. उनके बल्ले से निकला शतक करारा जवाब है उनके लिए जो उन्हें डिगा हुआ मान बैठे थे. दूसरे लहजे में कहें तो ये गेल के अंदर का गुस्सा था जो मोहाली में शतक की शक्ल में निकला था.

मेरा शतक करारा जवाब है- गेल

मोहाली में शतक जड़ने के बाद गेल ने कहा था, ” काफी लोग ये मान बैठे थे कि गेल बुड्ढा हो गया है. इस शतकीय पारी के बाद मुझे उन्हें कुछ और कहने की जरुरत नहीं है.” इस बयान के जरिए गेल ने सीधे अपनी पिछली IPL फ्रेंचाईजी बैंगलोर पर निशाना साधा है, जिन्होंने जनवरी में हुए फ्रेश IPL ऑक्शन में ना तो गेल को रिटेन किया और ना ही उन्हें खरीदा था. बैंगलोर में शतक के जरिए दिए गेल के करारे जवाब को पंजाब के कोच वीरेन्द्र सहवाग के इस ट्वीट से भी समझा जा सकता है.

 

पूरी टीम के बराबर अकेले गेल

मोहाली में तूफानी गेल ने 63 गेंदों पर 104 रन बनाए जिसमें सिर्फ 1 चौका और 11 गगनचुंबी छक्के शामिल रहे. इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट 165.07 का रहा. वहीं दूसरी ओर पंजाब के बाकी बल्लेबाजों ने केवल 57 गेंदे खेली और 81 रन बनाए. 9 चौके, 3 छक्के और 142.11 की स्ट्राइक रेट के साथ. मतलब साफ है गेल अब भी अपनी टीम के के बराबर अकेले हैं. वो एक तरफ और टीम के बाकी खिलाड़ी एक तरफ. मोहाली में गेल की इस जोरदार कामयाबी को सनराइजर्स हैदराबाद के मेंटर वीवीएस लक्ष्मण के उस ट्वीट से भी समझा जा सकता है, जिसमें उन्होंने माना है उनकी टीम को अकेले गेल ने हराया है.

गेल के आस-पास भी नहीं कोई

हैदराबाद के खिलाफ अपनी आतिशी पारी में गेल ने कुल 11 छक्के जड़े. T20 क्रिकेट में ये 16वां और IPL के इतिहास में चौथा मौका था जब उनके बल्ले से 10 या उससे ज्यादा छक्के निकले थे. इस मामले में गेल के आस-पास भी कोई दूसरा खिलाड़ी नहीं है. क्योंकि, गेल के बाद जिन बल्लेबाजों का नंबर आता है वो सिर्फ 2 बार ही T20 क्रिकेट में 10+ छक्के लगा पाए हैं.

गेल आईपीएल में सबसे ज्यादा 6 शतक लगाने वाले बल्लेबाज हैं. उनके शतकों की संख्या दूसरे नंबर पर मौजूद बल्लेबाज के शतकों की संख्या से 100 से भी ज्यादा है. ये आंकड़े इस बात का सबूत हैं कि गेल अभी फेल नहीं हुए हैं और उन्हें नजरअंदाज करना किसी भी टीम को महंगा पड़ सकता है.