नई दिल्ली: ऑस्ट्रेलिया के अपने जमाने के दिग्गज तेज गेंदबाज ग्लेन मैकग्रा का मानना है कि अगर भारत को इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट श्रृंखला जीतने की संभावना मजबूत करनी है तो विराट कोहली और उनके साथी बल्लेबाजों को जेम्स एंडरसन की स्विंग और सीम पर हावी होना होगा. मैकग्रा ने चेन्नई में मीडिया से बात करते हुए कहा, ‘‘एंडरसन सबसे अहम खिलाड़ी होगा. यह इस पर निर्भर करता है. भारतीय बल्लेबाज इंग्लैंड की परिस्थितियों में उनकी स्विंग और तेज गेंदबाजी का कैसे सामना करते हैं. अगर वे एंडरसन पर हावी होकर खेलते हैं तो इससे उनके लिये बड़ा अंतर पैदा होगा. मेरा मानना है कि उनके लिये वह निश्चित तौर पर सबसे महत्वपूर्ण होगा.’’ Also Read - Ab de Villiers के इस 4-Point Message से वापस फॉर्म में लौटे Virat Kohli, भारतीय कप्‍तान ने मांगी थी मदद

Also Read - Indian Premier League 2021, Orange Cap, Purple Cap Holder List: ऑरेंज कैप की रेस में Nitish Rana अव्वल, जानिए पर्पल कैप की दौड़ में कौन टॉप?

एमआरएफ पेस फाउंडेशन में कोचिंग निदेशक मैकग्रा ने कहा कि भले ही भारतीय गेंदबाजों ने हाल में अच्छा प्रदर्शन किया है लेकिन बल्लेबाजी तब भी उनका मजबूत पक्ष है. उन्होंने कहा, ‘‘यह दिलचस्प होने जा रहा है. भारत ने इंग्लैंड में वास्तव में अच्छी शुरुआत की, बेशक यह वनडे और टी 20 में थी. बल्लेबाजी हमेशा उनका मजबूत पक्ष रहा है. अभी (जसप्रीत) बुमराह और भुवी (भुवनेश्वर कुमार) की चोट के बारे में सुना. इसलिए यह उनकी गेंदबाजी लाइन अप को देखना दिलचस्प होगा कि कौन मुख्य जिम्मेदारी उठाता है.’’ Also Read - IPL 2021 RR vs DC Highlights in Hindi: क्रिस मॉरिस की धमाकेदार पारी के दम पर राजस्थान ने दिल्ली को हराया

धवन ने पेश की दोस्ती की मिसाल, कहा ‘कैसे न हो गुजारा जब साथ हो कोहली-पुजारा’

मैकग्रा ने कहा, ‘‘हाल के दिनों में उन्होंने वास्तव में अच्छी गेंदबाजी की. चोट लगती रही हैं. इससे थोड़ा काम मुश्किल हो जाएगा लेकिन उनका मजबूत पक्ष बल्लेबाजी है.’’ उन्होंने कहा कि भारत के लिये स्पिनरों ने अच्छा प्रदर्शन किया है और वे इंग्लैंड में भी अपनी भूमिका निभाएंगे लेकिन तेज गेंदबाज महत्वपूर्ण होंगे.

मैकग्रा ने कहा, ‘‘स्पिनर भारत के लिये अच्छा काम कर रहे हैं. शेन वॉर्न को भी वहां गेंदबाजी करना पसंद था. वह हमेशा कहता था कि अगर पिच से सीमर को मदद मिलेगी तो टर्न भी मिलेगा. इंग्लैंड की परिस्थितियों में गेंद से वॉर्न को सफलता मिली है. भारत को अगर श्रृंखला जीतनी है तो उसके स्पिनरों को बल्लेबाजों पर हावी होना होगा.’’

धोनी ने कोहली-सचिन को छोड़ा पीछे, वजह जानकर आपकी नजर में बढ़ जायेगी इज्जत

उन्होंने कहा, ‘‘भुवी और बुमराह के बाहर होने से थोड़ा खालीपन पैदा हो गया है. पहला टेस्ट काफी महत्वपूर्ण बनने जा रहा है. वह (इशांत शर्मा) काफी अनुभवी है और जब आप जानते हो कि विकेट कैसे लेने हैं तो इससे बड़ा अंतर पैदा होता है. वह पहले जैसी तेजी से गेंदबाजी नहीं कर रहा है लेकिन यह देखना होगा कि उसमें पहले की तरह विकेट लेने की क्षमता है. उमेश यादव में तेजी है और भारत को पूरी श्रृंखला में उसकी जरूरत पड़ेगी. ’’