सोल. फुटबॉल का खेल दुनिया में जितना पॉपुलर है, फुटबॉल प्रेमियों के किस्सों की भी उतनी ही चर्चा होती है. अभी हाल ही में लीवरपुल और रियल मैड्रिड के बीच चैंपियंसलीग के फाइनल मैच के लिए ज्यादा किराया देकर मैच देखने के जुनून की खबर आई थी. लेकिन हम आपको जो किस्सा बता रहे हैं वह पिछले फुटबॉल वर्ल्ड कप का है. यह खबर दक्षिण कोरिया की फुटबॉल टीम की है. दरअसल, दक्षिण कोरिया का प्रदर्शन 2014 में ब्राजील में हुए फुटबाल विश्व कप में इतना खराब था कि घर लौटने पर नाराज प्रशंसकों ने खिलाड़ियों पर टॉफी फेंककर विरोध जताया. विश्व कप 2002 में सेमीफाइनल में पहुंचने वाली टीम के लिए शायद इससे बड़ा अपमान कुछ नहीं हो सकता था. टीम इस बार प्रदर्शन में सुधार कर ऐसी स्थिति से बचना चाहेगी.

पहले दौर में ही बाहर हो गई थी दक्षिण कोरिया
तेगुक वारियर्स के नाम से पहचानी जाने वाली यह टीम 2014 विश्व कप के तीन मैचों में एक अंक के साथ पहले ही दौर में बाहर हो गई थी. टीम इस बार मुश्किल ग्रुप में है लेकिन वे 2002 के प्रदर्शन को दोहराना चाहेंगे. इस ग्रुप में गत विजेता जर्मनी, मैक्सिको और स्वीडन की टीमें हैं. दक्षिण कोरिया के कोच शिन ताई-योंग ने कहा, ‘मुझे लगता है अंतिम 16 में जगह बनाने के लिए हमें स्वीडन को हराना होगा.’निजनी नोवगोरोद स्टेडियम में 18 जून को होने वाले इस मुकाबले के बारे में ताई-योंग ने कहा, ‘हमने इस विश्व कप के लिए काफी इंतजार किया है.’ कोच ताई-योंग का कहना है कि विश्व कप के लिए हर टीम विशेष रणनीति बनाती है. हमने भी वर्ल्ड कप के मैचों के लिए अलग-अलग रणनीति बना रखी है.

फुटबॉल-फीवरः दिल्ली से 40 घंटे का हवाई सफर कर देखने पहुंचे 90 मिनट का मैच

इस बार के मैच के लिए गंभीर हैं खिलाड़ी
पिछले विश्वकप की तरह, 2018 के टूर्नामेंट में भी दक्षिण कोरिया का बुरी हार का सामना न करना पड़े, इसके लिए टीम के कोच ने सभी खिलाड़ियों को स्पष्ट दिशा-निर्देश दे दिए हैं. कोच का कहना है कि इस बार पिछले वर्ल्ड कप की गलतियां उनके खिलाड़ी नहीं दोहराएंगे. सभी खिलाड़ी मानसिक और शारीरिक रूप से विश्व कप के होने वाले मैचों के लिए तैयार हैं. यही वजह है कि बीते दिनों हुए बोस्निया हेर्जेगोविना के खिलाफ मैत्री मैच में दक्षिण कोरियाई टीम के बुरी तरह 3-1 से हार जाने पर भी कोच ने सख्त नाराजगी जताई थी. टीम के खिलाड़ियों के प्रदर्शन से नाराज कोच ने कहा, ‘विश्व कप के मद्देनजर यह प्रदर्शन कहीं से उम्मीदों के मुताबिक नहीं था. हम उस दौर को पार कर चुके हैं जहां खराब प्रदर्शन करने के बाद माफी मांग कर अगले मैच में बेहतर प्रदर्शन की बात करें. खिलाड़ियों को ज्यादा दमखम दिखाना होगा.’

(इनपुट – एजेंसी)