गोवा, 1 दिसम्बर | एफसी गोवा ने सोमवार को अपने घरेलू मैदान जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में हुए इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के 46वें मैच में नॉर्थईस्ट युनाइटेड को 3-0 से हरा दिया। गोवा की टूर्नामेंट में यह लगातार तीसरी जीत है। इस जीत से गोवा ने 12 मैचों में 18 अंक हासिल कर एटलेटिको डी कोलकाता को अंकतालिका में दूसरे पायदान से अपदस्थ कर दिया। कोलकाता के 17 अंक हैं और वह तीसरे पायदान पर खिसक गया।

भारतीय मिडफील्डर रोमियो फर्नाडीज ने 33वें मिनट में पहला गोल दागकर गोवा को बढ़त दिला दी। फर्नाडीज का टूर्नामेंट में यह दूसरा गोल है, जबकि टूर्नामेंट का 100वां गोल। रोमियो के बाद स्लेपिका ने लगातार तीसरे मैच में स्कोर करते हुए मध्यांतर से ठीक पहले गोवा के लिए दूसरा गोल किया, जबकि गोवा के लिए अब तक कई मैचों में अहम योगदान दे चुके आंद्रेई डॉस सांतोस ने 74 मिनट में गोवा के लिए तीसरा गोल किया।

शुरुआती छह मैचों में सिर्फ एक जीत दर्ज कर सबसे निचले पायदान पर पहुंच चुकी गोवा ने शानदार वापसी करते हुए पिछले छह मैचों में चार जीत हासिल किए हैं और दो मैच ड्रॉ करवाने में कामयाब रहा है। घरेलू दर्शकों के सामने गोवा ने बेहद आक्रामक शुरुआत की और पहले ही मिनट में नॉर्थईस्ट के गोलपोस्ट पर चढ़ाई कर दी। मैच के 12वें मिनट में नारायण दास के क्रॉस पर आंद्रेई डॉस सांतोस का हेडर गोलपोस्ट से दूर रहा।

शुरुआती 15 मिनट के खेल में दोनों टीमों को एक-एक फ्री किक मिले, हालांकि कोई भी टीम इसे गोल में तब्दील नहीं कर सकी। गोवा को हालांकि लगातार आक्रमण करते रहने का मैच के 33वें मिनट में फायदा मिला। मिरोस्लाव स्लेपिका के पास पर रोमियो ने बाएं पैर से बेहतरीन गोल किया। रोमियो का यह गोल आईएसएल के पहले संस्करण का 100वां गोल रहा। मध्यांतर से ठीक पहले गोवा के गोलकीपर जैन सेडा ने कॉर्नर शॉट को सफाई से बचाते हुए गेंद रोमियो की ओर बढ़ा दिया, जिसे रोमियो बेहद तेजी से नॉर्थईस्ट के गोलपोस्ट की ओर लेकर बढ़े और गोलपोस्ट के काफी नजदीक पहुंचकर पीछे की ओर पास कर दिया।

रोमियो का पास हालांकि नॉर्थईस्ट की रक्षापंक्ति के पास गया, लेकिन स्लेपिका ने लगभग नॉर्थईस्ट की रक्षापंक्ति के खिलाड़ी से गेंद छीनते हुए मैच का दूसरा गोल दाग दिया। स्लेपिका का यह टूर्नामेंट का चौथा गोल है। इस बीच नॉर्थईस्ट के चोटिल हुए खिलाड़ी कोंडवानी माटोंगा को मैदान से बाहर जाना पड़ा और उनकी जगह कीने को बुलाया गया, जबकि मसांबा और स्लेपिका को पीला कार्ड दिखाया गया।

मध्यांतर के बाद नॉर्थईस्ट ने तेज हमले शुरू किए, लेकिन वे कोई गोल नहीं कर सके। मिगुएल गार्सिया के पास पर कोके ने दाहिने पैर से ताकतवार शॉट लगाया, लेकिन जैन सेडा ने उतना ही खूबसूरत बचाव किया। मैच के 67वें मिनट में रोमियो ने 18 गज के अंदर से गोल की ओर शॉट लगाया जो मसांबा के हाथ से लगकर नेट में घुसने से बच गया, हालांकि रेफरी इस हैंडबॉल को नहीं देख पाए और गोवा को पेनाल्टी किक का मौका नहीं मिल सका।

ब्राजीलियाई सांतोस ने हालांकि मैच के 74वें मिनट में नारायण दास से मिले पास पर रक्षापंक्ति के तीन-तीन खिलाड़ियों को छकाते हुए बेहद धैर्यपूर्वक आराम से खेले गए शॉट पर मैच का तीसरा गोल दागा।

सांतोस का टूर्नामेंट में यह तीसरा गोल है।