Diego Maradona Dies: अर्जेंटीना के महान फुटबॉलर डिएगो मैराडोना (Diego Maradona) का निधन हो गया है. फुटबॉल (Football) के महानतम खिलाड़ियों में शुमार डिएगो मैराडोना ने 60 की उम्र में दुनिया को अलविदा कह दिया है. डिएगो मैराडोना का जन्म 30 अक्टूबर 1960 को हुआ था. फुटबॉल के मैदान में एक से एक शानदार खिलाड़ी हुए, लेकिन डिएगो मैराडोना जैसा कोई नहीं हो पाया. डिएगो मैराडोना को व्यापक रूप से अब तक का सबसे बेहतरीन और महान खिलाड़ी माना जाता है. सिर्फ फुटबॉल प्रेमी ही नहीं, डिएगो मैराडोना के चाहने वाले वो भी हैं, जो फुटबॉल को बिल्कुल नहीं समझते या दूसरे खेलों से ताल्लुक रखते हैं. डिएगो मैराडोना का जाना खेल के लिए बड़ी क्षति है.Also Read - English Premier League: क्रिस्टियानो रोनाल्डो के गोल की मदद से मैनचेस्टर यूनाइटेड ने ब्रेंटफोर्ड को 3-0 से हराया

अर्जेंटीना की ओर से खेलते हुए अपने अन्तर्राष्ट्रीय करियर में डिएगो मैराडोना ने कुल 34 गोल किये. 1977 से 1994 तक वह 91 अन्तर्राष्ट्रीय मैच खेले. वह 1976–1981 तक अर्जेंटीना जूनियर के लिए खेले और 167 मैचों में 115 गोल ठोके. दुनिया का कई बेहतरीन क्लबों की ओर से खेलते हुए उन्होंने खुद को इस तरह साबित किया कि लोग उन्हें जादुई मानने लगे. वह मैदान पर अटैकिंग मिडफील्डर/सेकंड स्ट्राइकर की भूमिका में होते थे. 1997 में अपने 37वें जन्मदिन पर वह खेल से रिटायर हो गये थे. Also Read - दिवंगत फुटबॉलर माराडोना की 'Hand of God' जर्सी की नीलामी में 40 करोड़ रुपये की बोली लगने की उम्मीद

‘गोल ऑफ़ हैंड’ लगाने वाले डिएगो
डिएगो मैराडोना के दो गोल सबसे यादगार माने जाते हैं. 1986 में वर्ल्ड कप क्वार्टर फाइनल में इंग्लैंड के खिलाफ उनके दो गोलों ने लीजेंड बना दिया था. इनमें से एक गोल तो गोल ऑफ़ हैंड (Goal of Hand) कहा जाता है यानी हाथ से किया गया गोल. फुटबॉल के मैदान में हाथ से गोल ने दुनिया को चकित कर दिया था. फीफा वर्ल्ड कप (Fifa World Cup) में इंग्लैंड के खिलाफ 22 जून 1986 को भिड़ंत हुई. मैच के 50 मिनट के ठीक बाद डिएगो ने गोल को दागते समय गेंद को हाथ से छुआ था, लेकिन रेफरी सहित कोई भी इसे उस वक़्त देख नहीं पाया था और अर्जेंटीना के खाते में ये गोल शामिल हो गया. मैच के बाद डिएगो ने कहा था कि ये गोल थोड़ा मेरे सिर और थोड़ा भगवान के हाथ से छुआ था. डिएगो के इस बयान के बाद इस गोल को हैंड ऑफ़ गोल कहा गया. Also Read - Russia-Ukraine War: FIFA ने दिया रूस को झटका, अंतरराष्ट्रीय स्तर पर लगाया बड़ा 'बैन'

ऐसा था ‘गोल ऑफ़ सेंचुरी’
इसी मैच में एक और करिश्मा हुआ. इसमें भी डिएगो मैराडोना शामिल थे. डिएगो मैराडोना गोल ऑफ़ हैंड के कुछ मिनट बाद ही करीब 60 यार्ड की दूरी तय करते हुए पांच इंग्लैंड के खिलाड़ियों को बीट करते हुए गोल दाग दिया था. उन्होंने गोलकीपर को करिश्माई ढंग से चकमा दिया. इस गोल को ‘गोल ऑफ सेंचुरी’ (Goal of Century) कहा जाता है. डिएगो मैराडोना के 34 साल पहले लगाए गये इस गोल को आज भी फुटबॉल के इतिहास का सबसे यादगार गोल माना जाता है. अर्जेंटीना ने ये मैच इंग्लैंड को हरा दिया था. डिएगो मैराडोना के इन दो गोलों को देख दुनिया आज भी हैरान रह जाती है.