कोलकाता: राष्ट्रमंडल खेलों-2010 में भारत को महिला वर्ग कुश्ती में पहला स्वर्ण पदक दिलाने वाली गीता फोगाट ने हाल ही में विश्व कुश्ती चैम्पियनशिप में देश के प्रदर्शन को सराहा है और उम्मीद जताई है कि अगले साल होने वाले टोक्यो ओलम्पिक में भारतीय दल अच्छा प्रदर्शन करेगा. चार भारतीय खिलाड़ियों ने कजाकिस्तान के नूर-सुल्तान में आयोजित हुई विश्व चैम्पियनशिप में चार पदक अपने नाम किए थे. गीता की बहन विनेश महीला वर्ग में पदक जीतने वाली भारत की इकलौती पहलवान थीं.

गीता ने कहा, “यह अच्छी बात है कि खिलाड़ियों ने क्वालीफिकेशन के पहले ही दौर में ओलम्पिक कोटा हासिल कर लिया और पदक भी जीते. यह बड़ी बात है. इनके प्रदर्शन को देखकर हम कह सकते हैं कि यह लोग ओलम्पिक में अच्छा करेंगे. मुझे उम्मीद है कि टोक्यो में हम पदक जीतकर लाएंगे.” उन्होंने कहा, “अब इन पहलवानों के पास तैयारी के लिए एक साल है कि वह दूसरों के मुकाबले देखें और अपने खेल में सुधार करें. मुझे उम्मीद है कि आने वाले अन्य क्वालीफाइंग टूर्नामेंट में भारत के और खिलाड़ी कोटा हासिल करेंगे. हम जितने ज्यादा होंगे, पदक की संभावना उतनी बढ़ेगी.”

भारत में सबसे सम्मानित पुरुषों की सूची में धोनी हैं कप्तान कोहली से काफी आगे, पीएम मोदी हैं इस स्थान पर

ओलम्पिक के पहले अभी दो और क्वालीफाइंग टूर्नामेंट बचे हैं. अपनी बहन विनेश के बारे में गीता ने कहा, “वह भारत की सर्वश्रेष्ठ महिला पहलवानों में से एक हैं. वह काफी मेहनत करती हैं और अपने खेल को लेकर प्रतिबद्ध हैं. वह कभी हार नहीं मानतीं.” विनेश ने 10 महीने पहले ही अपने भारवर्ग में बदलाव किया और विश्व चैम्पियनशिप में 53 किलोग्राम भारवर्ग में कांस्य पदक अपने नाम किया. वह ओलम्पिक में भारत की पदक की सबसे बड़ी उम्मीदों में से एक हैं.

गीता ने हाल ही में सोशल मीडिया पर अपने गर्भवती होने की खबर दी थी. उनका कहना है कि मां बनने के बाद वह मैट पर वापसी करेंगी. उन्होंने कहा, “मैं वापसी करना चाहती हूं. मैं योग भी कर रही हूं, साथ ही इस समय जो फिटनेस ट्रेनिंग की जरूरत है, वो कर रही हूं.”

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहले टेस्ट में पंत के बजाय साहा को मौका देना चाहते हैं कोहली-शास्त्री: रिपोर्ट