Top Recommended Stories

खुशखबरी! क्रिकेट से हटेगा बायो बबल, साउथ अफ्रीका के खिलाफ अपने घर में बगैर बबल खेलेगी टीम इंडिया: BCCI सूत्र

BCCI ने योजना बना ली है कि अब आईपीएल के बाद वह अपने खिलाड़ियों को बायो बबल में सीरीज का हिस्सा नहीं बनाएगा. भारत IPL के बाद ही साउथ अफ्रीका की मेजबानी करेगा.

Published: April 25, 2022 7:48 PM IST

By India.com Hindi Sports Desk | Edited by Arun Kumar

खुशखबरी! क्रिकेट से हटेगा बायो बबल, साउथ अफ्रीका के खिलाफ अपने घर में बगैर बबल खेलेगी टीम इंडिया: BCCI सूत्र
भारत vs साउथ अफ्रीका @BCcI Twitter

कोरोना वायरस के अस्तित्व में आने के बाद दुनिया भर में खेल प्रतियोगिताएं बायो बबल में आयोजित हो रही हैं. लेकिन लगातार इस बबल में रहने के कारण खिलाड़ी मानसिक थकान महसूस कर रहे हैं. इस बबल में लगातार खिलाड़ियों के बने रहने को सही नहीं माना जा रहा है. लेकिन उम्मीद है कि भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) जल्दी ही इस बबल से अपने खिलाड़ियों को निजात देगा.

Also Read:

क्रिकेटरों की मानसिक स्थिति को बेहतर रखने के लिए भारतीय क्रिकेट बोर्ड (BCCI) के साउथ अफ्रीका के खिलाफ 5 टी20 मैच की आगामी सीरीज से जैविक रूप से सुरक्षित माहौल (बायो बबल) का इस्तेमाल नहीं करने की पूरी संभावना है.

कोविड-19 महामारी को देखते हुए बायो बबल क्रिकेटरों के जीवन का अहम हिस्सा बन गए थे और विदेशों तथा स्वदेश में लगभग सारी सीरीज जैविक रूप से सुरक्षित माहौल में हुई जिनमें कड़े नियमों को लागू किया गया.

टी20 सीरीज के मुकाबले नौ से 19 जून के बीच दिल्ली, कटक, विशाखापट्ट्नम, राजकोट और बेंगलुरू में खेले जाने हैं. खिलाड़ियों और अधिकारियों की सुरक्षा को देखते हुए इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) बायो बबल में खेली जा रही है. आईपीएल 29 मई को खत्म होगा और बीसीसीआई नहीं चाहता कि उसके खिलाड़ी लीग खत्म होने के बाद एक बार फिर जैविक रूप से सुरक्षित माहौल का हिस्सा बनें.

बीसीसीआई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने नाम जाहिर नहीं करने की शर्त पर बताया, ‘अगर सब कुछ सही रहा और चीजें अभी की तरह नियंत्रण में रहीं तो साउथ अफ्रीका के खिलाफ घरेलू सीरीज के दौरान जैविक रूप से सुरक्षित माहौल और कड़ा पृथकवास नहीं होगा.’

उन्होंने कहा, ‘इसके बाद हम आयरलैंड और इंग्लैंड जाएंगे और इन देशों में भी कोई बायो बबल नहीं होगा.’ बोर्ड को पता है कि जैविक रूप से सुरक्षित माहौल में जीवन लंबे समय तक व्यावहारिक नहीं है क्योंकि इससे खिलाड़ियों का मानसिक स्वास्थ्य प्रभावित होता है.

अधिकारी ने कहा, ‘कुछ खिलाड़ियों को समय समय पर ब्रेक मिला है लेकिन अगर बड़ी तस्वीर देखें तो एक के बाद एक सीरीज और अब दो महीने आईपीएल के दौरान जैविक रूप से सुरक्षित माहौल का हिस्सा होना खिलाड़ियों के लिए काफी थकाऊ है.’

ब्रिटेन में अभी किसी भी खेल के लिए जैविक रूप से सुरक्षित माहौल नहीं है और इसलिए उम्मीद है कि भारतीय टीम को भी वहां बायो बबल का हिस्सा नहीं बनना होगा. भारतीय टीम को ब्रिटेन में तीन हफ्ते में एक टेस्ट और सीमित ओवरों के छह मुकाबले खेलने हैं.

हालांकि माना जा रहा है कि खिलाड़ियों का नियमित परीक्षण होगा जिससे कि सुनिश्चित हो सके कि टीम में कोई पॉजिटिव मामला नहीं हो. कप्तान रोहित शर्मा (Rohit Sharma) के अलावा सीनियर बल्लेबाजों विराट कोहली (Virat Kohli), लोकेश राहुल (KL Rahul), विकेटकीपर ऋषभ पंत, तेज गेंदबाजों जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी, स्पिनर रवींद्र जडेजा के काम के बोझ के प्रबंधन के लिए प्रभावी कार्यक्रम तैयार किया जा रहा है, जिससे कि ब्रिटेन रवाना होने से पहले उन्हें पर्याप्त आराम मिल सके.

सूत्र ने कहा, ‘नौ से 19 जून के बीच पांच शहरों में पांच टी20 मुकाबले होंगे. बेशक सभी खिलाड़ी सभी मैच नहीं खेलेंगे. किसी को पूर्ण आराम दिया जा सकता है और किसी को कुछ मैच खेलने पड़ सकते हैं.’

उन्होंने कहा, ‘अगर इन खिलाड़ियों को नियंत्रित ब्रेक नहीं दिया गया तो इनको नुकसान ही होगा. लेकिन बेशक ब्रेक के बारे में चयनकर्ता मुख्य कोच (राहुल द्रविड़) के साथ बात करके फैसला करेंगे.’

(इनपुट: भाषा)

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. India.Com पर विस्तार से पढ़ें की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Published Date: April 25, 2022 7:48 PM IST