भारतीय क्रिकेट टीम के तेज गेंदबाजों ने पिछले कुछ समय से देश ही नहीं बल्कि विदेशी दौरों पर भी बेहतरीन प्रदर्शन किया है. इंग्लैंड के पूर्व ऑफ स्पिन गेंदबाज ग्रीम स्वान का कहना है कि जसप्रीत बुमराह की अगुआई वाला भारतीय तेज गेंदबाजी आक्रमण किसी भी टीम को सस्ते में समेटने की काबिलियत रखता है. Also Read - IPL 2020 News Updates: IPL की तैयारियों में जुटे हार्दिक पांड्या, जिम में पसीना बहाते हुए शेयर किया ये वीडियो

…तब इस तिकड़ी ने 40 में से 33 विकेट चटकाए थे   Also Read - राम मंदिर निर्माण पर हसीन जहां ने दी थी बधाई, अब मिल रही हैं मर्डर-रेप की धमकियां

क्रिकेटर से कमेंटेटर बने स्वान पिछले साल सितंबर में वेस्टइंडीज में थे जब भारत की तेज गेंदबाजों की तिकड़ी जसप्रीत बुमराह, इशांत शर्मा और मोहम्मद शमी ने मेजबानों को पस्त कर दिया था और मिलकर 40 में से 33 विकेट चटकाए थे जिससे टीम ने दो टेस्ट मैचों की सीरीज 2-0 से वाइटवाश की थी. Also Read - टीम इंडिया की ‘किट स्‍पॉन्‍सरशिप’ के लिए इन दो कंपनियों में लगी होड़, NIKE का करार हो रहा है खत्‍म

स्वान ने सोनी टेन के ‘पिट स्टॉप’ चैट शो में कहा, ‘मुझे यह शानदार लगा था और मैंने उस समय कहा था कि यह भारतीय टीम इस गेंदबाजी आक्रमण की बदौलत इस समय दुनिया की किसी भी टीम को सस्ते में समेट देगी. इस समय वे जिस तरह की गेंदबाजी कर रहे हैं और मैं इस पर कायम हूं, यह शानदार है.’

‘स्टुअर्ट ब्रॉड को ड्रॉप करना गलत फैसला’

वेस्टइंडीज ने कोविड-19 महामारी के बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के बहाल होने के बाद साउथम्पटन में पहले टेस्ट में इंग्लैंड को चार विकेट से मात दी. स्वान ने कहा कि इंग्लैंड ने शायद वो श्रृंखला नहीं देखी होगी और उन्होंने स्टुअर्ट ब्रॉड को टीम से बाहर रखकर गलत चयन किया.

उन्होंने कहा, ‘इंग्लैंड तब एशेज खेल रही थी, उन्होंने इसे नहीं देखा होगा. हम वहां थे और भारतीय गेंदबाजी आक्रमण अद्भुत फॉर्म में था. जसप्रीत बुमराह उस श्रृंखला में शानदार फॉर्म में था.’

‘इंग्लैंड ने पहले टेस्ट में विंडीज को हल्के में लिया’

स्वान ने कहा, ‘मुझे लगता है कि इंग्लैंड ने वेस्टइंडीज को हल्के में लिया और उन्होंने गलत टीम चुनी. इंग्लैंड ने स्टुअर्ट ब्रॉड को बाहर कर गलत टीम चयन किया. मैं इसे लगातार कहता रहूंगा. स्टुअर्ट ब्रॉड को नहीं खिलाकर इंग्लैंड ने अपने पूरे गेंदबाजी आक्रमण को धारहीन बना दिया.’