धर्मशाला: दक्षिण अफ्रीका के पूर्व आल राउंडर लांस क्लूजनर ने भारतीय क्रिकेट को बहुत नजदीक से देखा है. उन्हें लगता है कि ऋषभ पंत जैसी बेहतरीन प्रतिभा के धनी खिलाड़ी को निकट भविष्य में भारत के लिए और अधिक निरंतर प्रदर्शन के मद्देनजर खुद के बजाय अन्य की गलतियों से सीख लेनी चाहिए. इससे पहले भी क्लूजनर ने हरफनमौला हार्दिक पांड्या के क्रिकेटिंग स्टाइल को लेकर बहुत कुछ कहा था. Also Read - शुबमन गिल ने किया खुलासा- करियर की शुरुआत में हुई इस घटना के बाद खत्म हो गया बाउंसर का डर

क्लूजनर को लगता है कि पंत की काबिलियत देखते हुए वनडे में 22.90 और टी20 में 21.57 का औसत बेहतरीन नहीं दिखता लेकिन यह दिखाता है कि वह समय से आगे चल रहा है. दक्षिण अफ्रीका टीम के बल्लेबाजी कोच के तौर पर 48 साल के क्लूजनर इस समय भारत में हैं. उन्होंने कहा, ‘‘मेरे लिए यह बताना काफी मुश्किल होगा लेकिन उसके जैसा बेहतरीन खिलाड़ी खुद से आगे बढ़ने की कोशिश करता है. ’’ क्लूजनर जब दिल्ली की सफेद गेंद वाली सीनियर टीम के सलाहकार थे, तब उन्हें पंत के खेल को देखने का मौका मिला. उन्होंने कहा, ‘‘उसे खुद को थोड़ा समय देना चाहिए और थोड़ा सा समय उसे अपनी प्रतिभा दिखाने का मौका प्रदान करेगा. ’’ Also Read - भारतीय क्रिकेटरों के मुकाबले में अभी 'प्राइमरी क्लास' में हैं युवा ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी: ग्रेग चैपल

Birthday Special: एक ऐसा क्रिकेटर जो विवादों के बीच रह कर भी बना रहा ‘स्पिन का जादूगर’ Also Read - कप्तान अजिंक्य रहाणे के पूछने पर गाबा टेस्ट में चोट के साथ गेंदबाजी को तैयार थे नवदीप सैनी

लोग सोचते हैं कि खिलाड़ी अधिकतर चीजें अपनी गलतियों से सीखते हैं लेकिन क्लूजनर का मानना है कि अगर खिलाड़ी अन्य की गलतियों से सीख लेता है तो यह काफी फायदेमंद साबित होगा. उन्होंने कहा, ‘‘अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में क्या चीज आपको आगे ले जाती है, वो है खुद गलतियां किए बिना अन्य की गलतियों से सीख लो. ’’

क्लूजनर ने कहा, ‘‘मैं आपको बताता हूं कि ऐसा क्यों है. आप अपनी गलतियों से भी सीख सकते हो लेकिन गलती को महसूस करने, उसे सही करके बेहतर खिलाड़ी बनने में काफी समय लगता है. अगर आप अन्य खिलाड़ी को गलती करते हुए देखते हो तो आप तेजी से सीखोगे और तेजी से सुधार करोगे. ’’

पापा धोनी के साथ स्वीमिंग पूल में मस्ती करते शार्क ड्रेस में दिखीं जीवा, देखें फोटो