नई दिल्ली. हैमिल्टन मुकाबले के नतीजे से बेशक वनडे सीरीज में टीम इंडिया की सेहत पर कुछ खास असर नहीं पड़ा हो लेकिन इसने कुछ भारतीय बल्लेबाजों के दिल के तार जरूर तोड़े हैं. वो बल्लेबाज जिनके लिए ये मुकाबला स्पेशल था क्योंकि ये किसी माइलस्टोन की तरह था. वो इसे भुनाने में चूक गए और इनके चूकने से टीम इंडिया को भी करारी हार से दो-चार होना पड़ा.

रोहित शर्मा

विराट की गैर-मौजूदगी में हैमिल्टन वनडे में टीम की कमान रोहित शर्मा के हाथ में थी. रोहित के वनडे करियर का ये 200वां मुकाबला था. 200वां वनडे खेलने वाले वो भारत के 14वें और दुनिया के 80वें क्रिकेटर थे. खास बात ये है कि अब तक सिर्फ 2 ही बल्लेबाज एबी डीविलियर्स और विराट कोहली ऐसे रहे थे जिन्होंने अपने 200वें वनडे में शतक जड़ा था. लेकिन, रोहित इस खास मुकाबले में सिर्फ 7 रन पर सिमट गए.

अंबाती रायडू

हैमिल्टन वनडे टीम इंडिया के मिडिल ऑर्डर बल्लेबाज अंबाती रायडू के करियर का ये 50वां वनडे था. लेकिन, अपने 50वें वनडे में 50 रन बनाना तो दूर रायडू तो खाता भी नहीं खोल सके. सिर्फ 4 गेंदों पर ही उनकी पारी का अंत हो गया.

शुभमन गिल

पंजाब के धाकड़ बल्लेबाज और भारत के अंडर 19 वर्ल्ड कप जीत के हीरो शुभमन गिल के लिए तो ये मुकाबला अग्निपरीक्षा की तरह था. दरअसल, इसी मुकाबले से उन्होंने वनडे डेब्यू किया था. लेकिन, उनके डेब्यू को ट्रेंट बोल्ट की रफ्तार ने बुरा सपना बना दिया. गिल वनडे करियर की अपनी पहली पारी में दहाई का आंकड़ा भी नहीं पार कर सके और सिर्फ 9 रन पर ढेर हो गए.