नई दिल्ली. ईरानी ट्रॉफी में हनुमा विहारी ने एक बड़ी कामयाबी अपने नाम की है. वो इस टूर्नामेंट में लगातार 3 शतक जमाने का कमाल करने वाले पहले खिलाड़ी बन गए हैं. 15 फरवरी को विदर्भ के खिलाफ खेले मुकाबले में शेष भारत की ओर से खेलते हुए हनुमा ने शानदार शतक जमाया. ये तीन दिन में उनका दूसरा और इस मैच में भी दूसरा शतक है. विहारी ने मैच की पहली पारी में 114 रन की पारी खेली थी.

शेष भारत vs विदर्भ

शेष भारत ने मैच के पहले दिन हनुमा विहारी के 114 रनों की बदौलत 330 का स्कोर बनाया. हालांकि, विदर्भ के खिलाफ यह स्कोर काफी कम साबित हुआ. विदर्भ ने दूसरे दिन के बाद तीसरे दिन भी करीब तीन घंटे बैटिंग की. उसने इस दौरान 425 रन का स्कोर बनाया और शेष भारत पर 95 रन की बढ़त ली. पहली पारी में पिछड़ने के बाद शेष भारत की टीम दबाव में थी. लेकिन, चौथे दिन लंच-ब्रेक तक हनुमा विहारी और अजिंक्य रहाणे ने 166 रन की साझेदारी कर टीम का स्कोर दो विकेट पर 212 रन पहुंचा दिया था.

हनुमा ने रचा  इतिहास

हनुमा विहारी ने पिछले साल भी ईरानी कप में शतक बनाया था. पिछले साल भी रणजी चैंपियन विदर्भ की टीम ही थी. हनुमा विहारी ने तब विदर्भ के खिलाफ 183 रन की पारी खेली थी. इस तरह वे भारतीय इतिहास के पहले बल्लेबाज बन गए हैं, जिसने ईरानी कप में लगातार तीन शतक बनाए हैं.