भारतीय क्रिकेट टीम के अनुभवी ऑफ स्पिन गेंदबाज हरभजन सिंह आज यानी 3 जून को अपना 40वां बर्थडे सेलिब्रेट कर रहे हैं. साल 1980 में पंजाब के जालंधर में जन्मे हरभजन ने इंटरनेशनल स्तर पर अपनी स्पिन गेंदबाजी से खूब नाम कमाया. साथी खिलाड़ियों के बीच ‘टर्बनेटर’ के नाम से मशहूर हरभजन टेस्ट क्रिकेट में हैट्रिक लेने वाले भारत के पहले स्पिनर हैं.Also Read - सीनियर खिलाड़ियों को हटाना भी पड़े तो भी Prithvi Shaw और Ishan Kishan को मिलना चाहिए T20 वर्ल्ड कप में मौका: Harbhajan Singh

टेस्ट में भारत के दूसरे सबसे कामयाब स्पिनर Also Read - कभी रणजी खिलाड़ी रहे प्रकाश भगत, आज दाल पूड़ी बेचने को मजबूर

साल 1998 में टेस्ट और वनडे इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू करने वाले हरभजन ने टीम इंडिया के लिए आखिरी बार मार्च 2016 में खेला था. इसके बाद से वह नेशनल टीम से बाहर हैं. हालांकि वह अब भी खेलने की चाह रखते हैं. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ डेब्यू करने वाले भज्जी ने 103 टेस्ट मैचों में कुल 417 विकेट चटकाए हैं. वह भारत की ओर से बतौर स्पिनर टेस्ट क्रिकेट में सर्वाधिक विकेट लेने वाले दूसरे गेंदबाज हैं. दिग्गज अनिल कुंबले 619 विकेट के साथ पहले नंबर पर हैं. Also Read - न्यूजीलैंड के खिलाफ WTC फाइनल जीतने के लिए 100 प्रतिशत से ज्यादा देने की जरूरत : शमी

उन्होंने इस दौरान 25 बार पांच या इससे अधिक विकेट चटकाए हैं जबकि 16 बार चार विकेट लिए हैं. एक टेस्ट मैच में 5 बार 10 विकेट लेने का भी कारनामा किया है. इतना ही नहीं भज्जी ने कई बार निचले क्रम में उतरकर बल्ले से भी करिश्माई प्रदर्शन किए हैं. हरभजन ने उपरोक्त टेस्ट मैचों में कुल 2224 रन बनाए हैं जिसमें 2 शतक और 9 अर्धशतक शामिल है.

वनडे में भारत के दूसरे सर्वाधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज

फिरकी के इस गेंदबाज ने न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे में डेब्यू किया था. उन्होंने 236 वनडे में 269 शिकार किए हैं जिसमें 2 बार चार और 3 बार 5 विकेट हॉल शामिल है. हरभजन ने 1237रन भी बनाए हैं जिसमें बेस्ट 49 रन शामिल है.भज्जी वनडे में भारत की ओर से सबसे अधिक विकेट लेने वाले दूसरे स्पिनर हैं. 337 विकेट लेकर जंबो यानी कुंबले यहां भी टॉप पर हैं.

टी20 और वनडे वर्ल्ड कप चैंपियन टीम के रहे हिस्सा

दाएं हाथ के गेंदबाज हरभजन ने 28 टी20 इंटरनेशनल मैचों में 25 शिकार किए. हरभजन टी20 और वनडे वर्ल्ड 2011 कप चैंपियन टीम का भी हिस्सा रहे.