Happy Birthday Robin Singh: भारत के लिए सीमित ओवरों के क्रिकेट में 1989 से 2001 तक प्रतिनिधित्‍व करने वाले ऑलराउंडर रॉबिन सिंह (Robin Singh) का आज जन्‍मदिन है. वो आज यानी 14 सितंबर 2020 को 57 साल के हो गए हैं. सिंह मौजूदा समय में मुंबई इंडियंस (Mumbai Indians) के फील्डिंग कोच हैं. हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) सहित अन्‍य खिलाड़ियों ने केक कटवाकर रॉबिन सिंह के जन्‍मदिन का जश्‍न मनाया. वेस्‍टइंडीज के त्रिनिदाद में जन्‍म सिंह के भारत आने और फिर टीम इंडिया का हिस्‍सा बनने की कहानी कम दिलचस्‍प नहीं है.Also Read - टी20 विश्व कप करियर की सबसे बड़ी जिम्मेदारी: हार्दिक पांड्या

वेस्‍टइंडीज से भारत आकर बनाया कयियर Also Read - 29 साल की उम्र में पूर्व अंडर-19 कप्तान की दिल का दौरा पड़ने से मौत

रॉबिन सिंह के पूर्वज राजस्‍थान के अजमेर के रहने वाले हैं. उनके माता-पिता आज ही वेस्‍टइंडीज में ही रहते हैं. वो 19 साल की उम्र में पढ़ाई करने के लिए भारत आए थे. मद्रास यूनिवर्सिटी से उन्‍होंने अपनी मास्‍टर डिग्री पूरी की. शुरू से ही रॉबिन सिंह (Happy Birthday Robin Singh) की क्रिकेट में खासी दिलचस्‍पी थी. कॉलेज के स्‍तर से ही क्रिकेट खेलते हुए उन्‍होंने तमिलनाडु क्रिकेट टीम तक का सफर तय किया. Also Read - IPL Winners List: MS Dhoni की कप्तानी में CSK ने जीता चौथा खिताब, जानिए सीजन-दर-सीजन किसने मारी बाजी?

तमिलनाडु को जिताया पहला रणजी खिताब

साल 1988 में रॉबिन सिंह अपने करियर की शानदार फॉर्म में थे. यही वजह है कि वो अपनी निरंतरता के कारण तमिलनाडु को पहली बार रणजी खिताब जिताने में सफल रहे. इसके बाद तमिलनाडु को अपना दूसरा रणजी खिताब जीतने में 33 साल तक इंतजार करना पड़ा. अबतक तमिलनाडु केवल दो बार ही रणजी ट्रॉफी खिताब जीत पाया है.

भारत के सर्वश्रेष्‍ठ फील्‍डर 

रॉबिन सिंह (Happy Birthday Robin Singh) अपने इस शानदार प्रदर्शन के दम पर ही साल 1989 में वेस्‍टइंडीज दौरे के दौरान भारतीय टीम में डेब्‍यू करने में सफल रहे. रॉबिन सिंह को एक शानदार ऑलराउंडर के रूप में फैन्‍स याद रखते हैं। कहा जाता है कि गेंद सिंह के पास से निकले तो वो कैच लपकने का कोई मौका नहीं चूकते थे।

टेस्‍ट करियर रहा फ्लॉप शो

राबिन सिंह अगले 12 साल तक भारत के लिए खेले. इस दौरान उन्‍होंने 136 वनडे मैचों में हिस्‍सा लिया. 1998 में उन्‍हें पहली बार टेस्‍ट टीम में शामिल किया गया. जिम्‍बाब्‍वे के खिलाफ मैच में वो दोनों पारियों में शून्‍य पर आउट हुए. उन्‍हें फिर दोबारा टेस्‍ट टीम में जगह नहीं मिली.