नई दिल्ली: क्रिकेट के इतिहास में यूं तो कई खिलाड़ियों ने अपनी कौशलता से, अपने प्रदर्शन से पूरी दुनिया पर राज किया है, मगर कुछ ऐसे खिलाड़ी भी हुए हैं जो अपने अकेले दम पर अपनी टीम को एक नई दिशा देने में कामयाब हुए हैं. ऐसे ही खिलाड़ियों को दुनिया ता-उम्र जिंदा रखती है. भारतीय क्रिकेट का इतिहास खुद में इतना समृद्ध है जिसकी व्याख्या में कई सदियां भी बीत सकती है. लेकिन फिर भी इस इतिहास के नए पन्नों की बदौलत हम आज उस खिलाड़ी को याद कर रहे हैं जिसने भारतीय क्रिकेट टीम को एक नया मुकाम दिला दिया.

टीम इंडिया का एक ऐसा खिलाड़ी जिसने जब से भारत की जर्सी पहनी तब से ही पूरी दुनिया को अपने खेल का मुरीद बना लिया. मैच दर मैच अपने हिस्से में कई नायाब रिकॉर्ड को समेटने वाला ये बल्लेबाज आज टीम इंडिया की सबसे बड़ी ताकत बन गया है. खेल के तीनों प्रारूपों में अपनी बादशाहत कायम करने वाले इस बल्लेबाज का आज जन्मदिन है. टीम इंडिया के अगले ‘सचिन तेंदुलकर’ की उपाधि से संबोधित किए जाने वाले इस खिलाड़ी को दुनिया विराट कोहली के नाम से जानती है.

virat kohli letter photo

विराट कोहली

जन्मदिन मुबारक, विराट

विराट आज 31 साल के हो गए हैं. दिल्ली में रहने वाले पंजाबी परिवार में जन्मे विराट का सफर किसी प्रेरणा से कम नहीं है. पिता पेशे से एक क्रिमिनल वकील और मां हाउसवाइफ. मिडिल-क्लास परिवार की परेशानियों के बीच अपने सपने को जीते विराट ने वो कर दिखाया जिसका उन्हें यकीन था. नौ साल के विराट ने साल 1998 में वेस्ट दिल्ली क्रिकेट अकादमी से अपना सफर शुरू किया और फिर वो धीरे धीरे इस खेल के उरूज पर कायम हो गए.

एक नजर करियर पर 

विराट कोहली ने अपने क्रिकेटिंग करियर में आए दिन ढेरों रिकॉर्ड बनाएं भी है और तोड़े भी है. विराट ने अभी तक 82 टेस्ट, 239 वनडे और 72 टी20 इटरनेशनल मैच खेले हैं. टेस्ट में वे 26 शतक और 22 फिफ्टी लगाकर 54.11 के औसत से 7066 रन बना चुके हैं. वहीं वनडे की 230 पारियों में उनके नाम 43 सेंचुरी और 54 हाफ सेंचुरी के साथ 11520 रन हैं जिनमें उनका औसत 60.31 है. टी20 इंटरनेशनल में वे 2450 रन बना चुके हैं. ये आंकड़ें किसी खिलाड़ी के प्रदर्शन को परिभाषित करने के लिए काफी है.

Virat Kohli © IANS

विराट कोहली

कुछ ऐसे रिकार्ड्स जो अभी रास्ते में हैं 

विराट की उपलब्धियां गिनाने से अच्छा है की हम ये बताएं की वो अब कौन सा रिकॉर्ड तोड़ने और बनाने की राह पर हैं. विराट के नाम वनडे टेस्ट और टी20 में कुल 69 शतक हैं और ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज बल्लेबाज रिकी पोंटिंग  के खाते में 71 शतक है. जिस फॉर्म से विराट गुजर रहे हैं उसे देख कर ये कहना गलत नहीं होगा की इस 2 शतक को विराट जल्द ही पूरा कर पोंटिंग से आगे निकल जाएंगे. वहीं, ‘क्रिकेट के भगवान’ कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर के भी बहुत नजदीक पहुंच चुके हैं विराट. सचिन ने वनडे फॉर्मेट में 49 शतक जड़े हैं और कोहली 43 शतक लगाकर उन्हें धप्पा बोलने की पूरी तैयारी में हैं. दिलचस्प बात तो ये है कि सचिन के इस रिकॉर्ड को तोड़ने के लिए विराट के पास महज 12 वनडे मैच हैं.

टीम इंडिया का रन मशीन 

यूं ही नहीं विराट कोहली को दुनिया ने ‘रन मशीन’ जैसे उपसर्ग से सम्मानित किया है. विराट ने अपने इस सफर में कई पुरुस्कार और कई सम्मान कमाए है. उन्हें साल 2017 और 2018 में ‘आईसीसी क्रिकेटर ऑफ द ईयर’ से सम्मानित किया गया. साल 2013 में अर्जुन अवार्ड और साल 2017 में पदमश्री जैसे महान उपाधि से नवाजे गए विराट ने अपने खेल से कभी नाराज नहीं किया. फोर्ब्स और टाइम्स जैसे मैगजीन का हिस्सा बने विराट ने टीम इंडिया का सर हमेशा से ऊंचा किया है.