साल 2016 एशिया कप के बाद भारतीय क्रिकेट टीम (Team India) से बाहर चल रहे सीनियर हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) का कहना है कि चयनकर्ता उनकी उम्र की वजह से उन्हें टीम में शामिल होने के दावेदारों में से एक नहीं समझते।Also Read - IND vs SA: करारी शिकस्‍त देने के बावजूद ग्रीम स्मिथ ने टीम इंडिया-BCCI को कहा शुक्रिया, जानें क्‍या है वजह ?

39 साल के इस खिलाड़ी ने कहा, “मैं तैयार हूं। अगर मैं आईपीएल में गेंदबाजी कर सकता हूं, जो कि गेंदबाजों के लिहाज से मुश्किल टूर्नामेंट है क्योंकि मैदान छोटे होते हैं और विश्व क्रिकेट से सभी बड़े खिलाड़ी आईपीएल में खेलते हैं।” Also Read - अगर Virat के नाम 50-60 टेस्‍ट जीत होती तो बहुत से लोग ये हजम नहीं कर पाते : रवि शास्‍त्री

ईएसपीएन क्रिकइंफो से बातचीत में हरभजन ने कहा, “वो (चयनकर्ता) मेरी तरफ नहीं देखेंगे क्योंकि उन्हें लगता है कि मैं बूढ़ा हूं। साथ ही मैं घरेलू क्रिकेट नहीं खेलता हूं। पिछले चार-पांच सालों में उन्होंने मेरी तरफ देखा भी नहीं जबकि मैं आईपीएल में अच्छा खेल रहा था, विकेट ले रहा था और मेरे पक्ष में सारे रिकॉर्ड थे।” Also Read - Virat Kohli के खिलाफ लोग हैं, उनसे कप्तानी छुड़वाई गई: Shoaib Akhtar

चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) के इस ऑफ स्पिनर ने कहा, “उनके खिलाफ गेंदबाजी करना मुश्किल है और अगर आप आईपीएल में उनके खिलाफ अच्छा कर सकते हो, तो आप अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में भी अच्छा कर सकते हो। मैंने पॉवरप्ले में अच्छी गेंदबाजी की है और बीच के ओवरों में भी विकेट लिए हैं।”

इस भारतीय गेंदबाज का मानना है कि आईपीएल उतना ही मुश्किल है जितना अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट। उन्होंने कहा, “अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में, हर टीम के पास आईपीएल की तरह क्वालिटी प्लेयर्स नहीं होते हैं, जहां हर टीम के टॉप-6 खिलाड़ी अच्छे होते हैं।”

हरभजन ने कहा, “हां, ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड और भारत का बल्लेबाजी क्रम मजबूत है लेकिन अगर मैं आईपीएल में जॉनी बेयरस्टो और डेविड वार्नर को आईपीएल में आउट कर सकता हूं, तो क्या मैं उन्हें अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में आउट नहीं कर सकता? लेकिन ये (चयन) मेरे हाथ में नहीं है। मौजूदा भारतीट सेट-अप में ऐसा कोई नहीं है जो आकर आपसे बात करता है।”