भारतीय क्रिकेट टीम के दो धुरंधरों ने संयुक्त राष्ट्र महासभा के भाषण में नफरत की बात करने के लिए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को खूब सुनाया है. टीम इंडिया के प्रमुख पेसर मोहम्मद शमी ने अपनी आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट करते हुए लिखा, “महात्मा गांधी ने अपना जीवन प्रेम, सद्भाव और शांति के संदेश को फैलाने में बिताया है. संयुक्त राष्ट्र के मंच से @ImranKhanPTI ने घृणित खतरे जारी किए और घृणा की बात की. पाकिस्तान को एक ऐसे नेता की जरूरत है जो नौकरियों और आर्थिक विकास की बात करे, न कि आतंकवाद और युद्ध की.”

हरभजन सिंह ने इमरान खान के भाषण के संदर्भ में ट्वीट करते हुए लिखा, ” UNGA भाषण में, संभावित परमाणु युद्ध,  भारत के लिए संकेत थे. एक प्रमुख खिलाड़ी के रूप में, इमरान खान के शब्द ‘रक्तबीज’ से ‘अंत तक लड़ने’ का विकल्प केवल दो राष्ट्रों के बीच नफरत बढ़ाएगा. एक साथी खिलाड़ी के रूप में, मैं उनसे शांति को बढ़ावा देने की उम्मीद करता हूं.”

अपने UNGA भाषण के दौरान, इमरान खान ने कहा था, “यदि दोनों देशों के बीच एक पारंपरिक युद्ध शुरू होता है, तो कुछ भी हो सकता है. एक देश अपने पड़ोसी मुल्क से सात गुना छोटा है. वह क्या करेगा – या तो आत्मसमर्पण करे या अपनी स्वतंत्रता के लिए लड़े. मेरा विश्वास है कि हम लड़ेंगे और जब परमाणु-हथियार संपन्न देश अंत तक लड़ता है, तो यह सीमाओं से बहुत दूर चला जाता है. मैं तुम्हें चेतावनी दे रहा हूं. यह एक खतरा नहीं है, लेकिन इस बात की चिंता करें कि हम कहां जा रहे हैं. यदि ये कदम गलत साबित हो जाता है, तो आप सबसे अच्छे के लिए आशा करें लेकिन सबसे बुरे के लिए भी तैयार रहें.