नई दिल्ली: दक्षिण अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेले गए तीसरे टेस्ट मैच के दौरान की गई बॉल टेम्परिंग की वजह से स्टीव स्मिथ एक मैच का प्रतिबंध लगा दिया गया है. इसके अलावा स्मिथ की मैच फीस भी काटी जायेगी. जबकि बॉल टेम्परिंग करने वाले ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी कैमरन बैनक्रॉफ्ट पर प्रतिबंध न लगाकर सिर्फ 75 प्रतिशत मैच फीस का जुर्माना लगाया है. इस मसले पर टीम इंडिया के स्पिन गेंदबाज हरभजन सिंह ने ट्वीट कर आईसीसी से नाराजगी जताई है. Also Read - India vs Australia: IPL में फ्लॉप रही थी कंगारू तिकड़ी, ऑस्ट्रेलिया आते ही बजाया डंका

Also Read - India vs Australia 1st ODI 2020/21: स्टीव स्मिथ ने 62 गेंदों पर शतक ठोक हासिल की बड़ी उपलब्धि, Mathew Hyden के विशिष्ट क्लब में पहुंचे

भारत और वेस्टइंडीज के बीच खेली जायेगी वनडे सीरीज, पढ़ें कहां आयोजित होगा पहला मैच Also Read - India vs Australia 2020/21: फिंच-स्मिथ के शतकों के दम पर ऑस्ट्रेलिया ने भारत को दी 375 की पहाड़ सी चुनौती

दरअसल साल 2001 में टीम इंडिया दक्षिण अफ्रीका दौरे पर गई थी. इस दौरे पर टीम इंडिया के पांच खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली, शिव सुंदर दास, दीपदास गुप्ता और वीरेन्द्र सहवाग पर एक मैच का प्रतिबंध लगा दिया गया था. इन सभी खिलाड़ियों पर कई तरह के आरोप तय किए गए थे. भज्जी ने ट्वीट में इस दौरे का भी जिक्र किया.

पूर्व ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी ने की स्मिथ की आलोचना, बॉल टेम्परिंग ने वर्ल्ड क्रिकेट में टीम का बनाया मजाक

उन्होंने लिखा, ”वाह आईसीसी वाह. फेयरप्ले. बेनक्रॉफ्ट पर कोई प्रतिबंध नहीं जबकि सारे सबूत थे. वहीं हमें 2001 में दक्षिण अफ्रीका में जोरदार अपील करने के कारण हम छह पर प्रतिबंध लगा दिया गया था और वो भी बिना सबूत के. और सिडनी 2008 तो याद होगा. दोषी साबित नहीं होने पर भी तीन टेस्ट का प्रतिबंध. अलग अलग लोग अलग अलग नियम.’’

बता दें कि साल 2008 में भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच एक मैच के दौरान ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी एंड्रुय साइमंड्स ने आरोप लगाया था कि हरभजन ने उनके लिए नस्लभेदी टिप्पणी की है, जिसके बाद आईसीसी ने भज्जी पर एक टेस्ट मैच का प्रतिबंध लगा दिया था.

VIDEO: ड्वेन ब्रावो का डांस हुआ वायरल, फैन्स ने सोशल मीडिया पर दिए फनी रिएक्शन

बॉल टेम्परिंग के इस मसले पर टीम इंडिया के पूर्व खिलाड़ी बिशन सिंह बेदी ने भी आलोचना की है. बेदी का कहना है कि इसमें कोई शक नहीं है कि गलती हुई है. इसे कप्तान और टीम प्रबंधन दोनों ने स्वीकर कर लिया है. यह सिर्फ एक या दो खिलाड़ियों  का काम नहीं है. यह आधुनिक क्रिकेट की सबसे बड़ी त्रासदी है. इस मसले पर पूर्व ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी एडम गिलक्रिस्ट ने कहा है कि इस घटना की वजह से वर्ल्ड क्रिकेट में ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम का मजाक बन रहा है.