टीम इंडिया के अनुभवी ऑफ स्पिन गेंदबाज हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) ने भारतीय क्रिकेट टीम सेलेक्शन कमेटी (Indian Cricket Team Selection Panel) को आड़े हाथों लेते हुए उम्मीद जताई है कि बीसीसीआई के नए अध्यक्ष सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) इसमें ‘बदलाव’ करेंगे और ‘मजबूत लोगों’ को मौका देंगे.Also Read - BCCI ने किया बैकअप खिलाड़ियों के नाम का ऐलान; इंग्लैंड रवाना होंगे पृथ्वी शॉ और सूर्यकुमार यादव

हरभजन ने हाल में बांग्लादेश के खिलाफ सीरीज में विकेटकीपर बल्लेबाज संजू सैमसन (Sanju Samson) को मौका नहीं दिए जाने के बावजूद भारत की टी-20 टीम से बाहर किए जाने पर ये प्रतिक्रिया दी है. Also Read - IND vs SL 3rd ODI: स्पिन में चकराए भारतीय बल्लेबाज सिर्फ 225 रनों पर ऑलआउट

भज्जी ने टवीट किया, ‘मुझे लगता है कि वे उसके धैर्य की परीक्षा ले रहे हैं. चयन पैनल में बदलाव की जरूरत. मजबूत लोगों की जरूरत… उम्मीद करते हैं कि दादा (सौरव गांगुली) जो जरूरी है वह करेंगे.’ Also Read - श्रीलंका के खिलाफ तीसरे वनडे में एक साथ डेब्यू कर रहे हैं पांच भारतीय खिलाड़ी; 40 साल बाद पहली बार हुआ ऐसा

हरभजन ने शशि थरूर का दिया हवाला

हरभजन ने तिरुवनंतपुरम से लोकसभा सदस्य कांग्रेस के शशि थरूर (Shashi Tharoor) के ट्वीट का भी हवाला दिया. थरूर ने 25 साल के केरल के खिलाड़ी सैमसन को मौका नहीं दिए जाने पर निराशा जताई थी.


उन्होंने पूछा, ‘बिना मौका दिए बिना संजू सैमसन को बाहर किए जाने से बेहद निराश हूं. तीन टी-20 मैचों में वह पानी लेकर गया और इसके बाद उसे बाहर कर दिया गया. वे उसकी बल्लेबाजी की परीक्षा ले रहे हैं या धैर्य की?’’

एमएसके प्रसाद को 6 टेस्ट और 17 वनडे खेलने का है अनुभव

मौजूदा चयन समिति के प्रमुख एमएसके प्रसाद (MSK Prasad) हैं जिन्हें छह टेस्ट और 17 वनडे इंटरनेशनल मैच खेलने का अनुभव है. समिति के अन्य सदस्य देवांग गांधी, जतिन परांजपे, सरनदीप सिंह और गगन खोड़ा हैं.

एक टी-20 इंटरनेशनल मैच खेल चुके हैं सैमसन

सैमसन ने सैयद मुश्ताक अली टी-20 ट्रॉफी में केरल के लिए 4 मैचों में 112 रन बनाए. वह अपना एकमात्र टी-20 इंटरनेशनल मैच 2015 में जिंबाब्वे के खिलाफ खेले थेa

एमएसके प्रसाद वाली चयन समिति ने हाल ही में विंडीज सीरीज के लिए टीम चुनी जिसमें संजू सैमसन को नहीं चुना गया. इसके बाद चयन समिति की काफी आलोचना हो रही है.