नई दिल्ली : लोकसभा चुनाव 2019 के सातवें और आखिरी चरण की वोटिंग जारी है. टीम इंडिया के दिग्गज स्पिन बॉलर हरभजन सिंह भी रविवार को वोट देने पहुंचे. हरभजन ने पंजाब की जालंधर सीट के लिए वोट किया. वो जालंधर के गढ़ी गांव में वोट करने पहुंचे. उन्होंने वोट देने के बाद वोटर्स से अपने वोट का सही इस्तेमाल करने की अपील की. जालंधर सीट से कुल 19 उम्मीदवार अपना भाग्य आजमा रहे हैं. यहां कांग्रेस ने मौजूदा सांसद चौधरी संतोख सिंह को टिकट दिया है. वहीं शिरोमणि अकाली दल ने चरणजीत सिंह अटवाल को उम्मीदवार बनाया है. Also Read - IPL 2021 : मेगा ऑक्शन में इन 3 खिलाड़ियों को रिटेन कर सकती है Chennai Super Kings, ये है वजह

टीम इंडिया के क्रिकेटर हरभजन ने वोट देने के बाद फोटो भी क्लिक करवाई. वो सोशल मीडिया के जरिए लोगों को जागरूक करते रहे हैं. उन्होंने 14 मई को एक वीडियो जारी किया था. इसमें उन्होंने लोगों से वोट करने की अपील की थी. इस वीडियो में भज्जी ने पंजाबी में कहा, 19 तारीख को आप सभी परिवार के साथ वोट करें. यह हम सब का अधिकार है. मैं भी अपने परिवार के साथ वोट करूंगा. उम्मीद करता हूं कि इस बार पंजाब में काफी वोटिंग होगी. Also Read - India vs Australia: हरभजन सिंह ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट सीरीज के लिए चुने भारतीय सलामी बल्लेबाज

World Cup 2019: रोहित-कोहली के पास गांगुली का 20 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ने का मौका

हरभजन ने वोट देने के बाद राजनीति में शामिल होने की बात पर प्रतिक्रिया. भज्जी ने मीडिया के सामने स्पष्ट किया कि राजनीति में आने की उनकी कोई योजना नहीं है. उन्होंने कहा, “राजनीति में पहले ही काफी अनुभवी लोग हैं. इसलिए मेरी कोई योजना नहीं है.” इससे पहले, खबरें थीं कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने अमृतसर लोकसभा से लड़ाने के लिए क्रिकेटर (38) से संपर्क किया है. लोकसभा चुनाव के सातवें और अंतिम चरण के तहत पंजाब की सभी 13 लोकसभा सीटों और इसकी राजधानी चंडीगढ़ की एकलौती सीट पर रविवार को कड़ी सुरक्षा के बीच मतदान हो रहे हैं.

बता दें कि पंजाब की 13 लोकसभा सीटों पर चुनाव के लिए रविवार सुबह 7 बजे मतदान शुरू हुआ. यह शाम 6 बजे खत्म होगा. पंजाब के करीब दो करोड़ वोटर्स 278 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला करेंगे. राज्य में वोटिंग शांति पूर्वक हो इसके लिए सरकाऱ ने सुरक्षा का पुख्ता इंतजाम किया है. पंजाब में इस चरण के लिए 23123 पोलिंग बूथ बनाए गए. अहम बात यह है कि इस बार तीन लाख नए वोटर्स जुड़े हैं जो कि अपने वोट का प्रयोग करेंगे.