टीम इंडिया के सीनियर ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) ने 2011 विश्व कप जीत के सुनहरे पलों को याद किया। उन्होंने बताया कि 28 सालों के बाद मिली विश्व कप जीत पर टीम इंडिया के दिग्गज सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) ने बेपरवाह होकर डांस किया था। हरभजन ने कहा कि वो इस पल को कभी नहीं भुला पाएंगे। Also Read - क्रिस गेल नहीं, हरभजन सिंह को इस बल्लेबाज के खिलाफ गेंदबाजी करना लगता है ज्यादा मुश्किल

2003 में विश्व कप खिताब के बेहद करीब पहुंचने के बाद सचिन और कप्तान सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) के साथ साथ करोड़ों भारतीय फैंस का सपना टूटा था। लेकिन 2 अप्रैल 2011 को महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) की कप्तानी में टीम इंडिया ने युवराज सिंह (Yuvraj Singh), जहीर खान (Zaheer Khan) जैसे दिग्गज खिलाड़ियों के शानदार प्रदर्शन के दम पर विश्व कप जीता था। उस रात ना केवल फैंस बल्कि भारतीय टीम से जुड़े हर एक सदस्य ने जमकर जश्न मनाया था। Also Read - 'मैंने कुछ कहा तो ये कंफ्यूज हो जाएगा': धोनी ने शार्दुल ठाकुर की पिटाई पर भज्‍जी को दिया था ये जवाब

तेंदुलकर भी इससे जुदा नहीं थे। उस दिन को याद करते हुए हरभजन ने कहा, “उस जिन मैंने सचिन तेंदुलकर को पहली बार, पहली बार बेपरवाह होकर सभी के साथ नाचते हुए देखा और मुझे ये हमेशा याद रहेगा।” Also Read - महान बल्लेबाज की दौड़ में लारा से आगे हैं तेंदुलकर लेकिन कैलिस हैं "पूर्ण क्रिकेटर" : ब्रेट ली

श्रीलंका के खिलाफ फाइनल मैच में जीत के बाद हरभजन भी काफी भावुक हो गए थे और रो पड़े थे। उन्होंने कहा, “मुझे याद है कि मैं अपने मेडल को साथ लेकर सोया था और जब मैं उठा तो भी मेरा मेडल मेरे साथ था और ये शानदार एहसास था।”

टीम इंडिया के सीनियर खिलाड़ी ने कहा, “ये ऐसा था जिसका सपना हम सबने मिलकर देखा था और जब ये पूरा हुआ तो ये अविश्वसनीय एहसास था। उन पलों को याद कर आज भी मेरे रोंगटे खड़े हो जाते हैं। विश्व कप ट्रॉफी उठाना बेहद खास था और ये पहला मौका था जब मैं लोगों के सामने रोया था। ये एहसास बेहद खास था, मुझे समझ नहीं आ रहा था कि क्या प्रतिक्रिया दूं।”