नई दिल्ली : आईसीसी के मुख्य कार्यकारी ने डेविड रिचर्डसन ने गुरुवार को भारतीय कप्तान विराट कोहली को खेल का बेहतरीन दूत करार दिया और हार्दिक पांड्या की टीवी कार्यक्रम में की गयी टिप्पणियों के संदर्भ में भारतीय टीम को अच्छा व्यवहार करने वाली टीम बताया. विश्व कप से संबंधित प्रचार कार्यक्रम के लिये यहां आ रखे रिचर्डसन से पांड्या की महिलाओं को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी के बारे में पूछा गया. इस वजह से पांड्या को निलंबन झेलना पड़ा था. Also Read - विश्व टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल के लिए 2 जून को इंग्लैंड रवाना होगी टीम इंडिया; 10 दिन तक क्वारेंटीन में रहेंगे खिलाड़ी

Also Read - World Test Championship के लिए 20 सदस्यीय भारतीय टीम की घोषणा, Hardik Pandya बाहर

रिचर्डसन ने कहा, ‘‘यह सदस्य देश के लिये चिंता का विषय है और आमतौर पर भारतीय टीम बहुत अच्छा व्यवहार करने वाली टीम है. वे अंपायरों के फैसले का स्वीकार करते हैं और सच्ची खेल भावना से खेलते हैं.’’ उन्होंने कहा, ‘‘वे अच्छा खेलते हैं और विराट कोहली इस खेल का बेहतरीन दूत है. वह केवल टी20 क्रिकेट ही नहीं बल्कि टेस्ट और 50 ओवरों की क्रिकेट को लेकर भी पूरे जुनून के साथ बात करता है तथा मेरा मानना है सभी अच्छे खिलाड़ी सभी प्रारूपों में खेलना चाहते हैं.’’ Also Read - कोरोना पीड़ितों की मदद के लिए आगे आए Virat Kohli-Anushka Sharma, दान दिए 2 करोड़ रुपये

रोहित के बाद मिताली ने बनाया वर्ल्ड रिकॉर्ड, ऐसा करने वाली पहली महिला खिलाड़ी

रिचर्डसन से पूछा गया कि क्या भारत पांड्या मामले से सही तरह से निबटा, उन्होंने कहा, ‘‘हां, हमें उम्मीद है कि भारत जल्द ही इसे सुलझा देगा लेकिन वैश्विक दृष्टिकोण में यह बड़ा मसला नहीं है.’’ गौरतलब है कि पांड्या ने एक टीवी शो पर महिलाओं से जुड़ा विवादित बयान दिया था, जिसके बाद उन्हें टीम इंडिया से निलंबित कर दिया गया. इसके साथ ही उन्हें ऑस्ट्रेलिया दौरे के बीच से भारत बुलाया लिया गया. इस मसले में लोकेश राहुल भी शामिल रहे. उन्हें भी निलंबित कर दिया गया था. हालांकि अब जांच पूरी होने तक दोनों खिलाड़ियों को खेलने की इजाजत मिल गई है.