नई दिल्ली : सीओए ने हार्दिक पांड्या और लोकेश राहुल के सस्पेंशन को तुरंत प्रभाव से हटा दिया है. पांड्या-राहुल के विवादित मसले की जांच के लिए एक लोकपाल नियुक्त करना था, जोकि अभी नियुक्त नहीं हो पाया है. इसलिए ये दोनों खिलाड़ी जांच पूरी होने तक भारतीय टीम के लिए खेल सकेंगे. लेकिन पांड्या और राहुल के टीम में शामिल होने का फैसला चयन समिति के हाथ होगा. फिलहाल भारतीय टीम न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे सीरीज खेल रही है. विराट कोहली की कप्तानी वाली टीम फिलहाल न्यूजीलैंड में ही है.

दरअसल पांड्या और राहुल पर आरोप है कि उन्होंने एक टीवी शॉ में महिलाओं से जुड़ा विवादित बयान दिया था. पांड्या-राहुल के विवाद में फंसने के बाद उन्हें भारतीय टीम से बाहर कर दिया गया. इसके साथ ही वो जांच पूरी होने तक सस्पेंड भी कर दिए गए. लेकिन अब गुरुवार को बीसीसीआई ने फैसले को बदलते हुए इन दोनों खिलाड़ियों के संस्पेंशन को तुरंत प्रभाव से निरस्त कर दिया. इसके साथ ही पांड्या और राहुल को इंटरनेशनल मैच में खेलने की इजाजत भी दी. वो जांच पूरी होने तक भारतीय टीम के लिए खेल सकेंगे.

रैना ने टीम इंडिया को दिया सुझाव, धोनी के लिए बताई बैटिंग की सही जगह

गौरतलब है कि पांड्या और राहुल की पर से यह प्रतिबंध लोकपाल की नियुक्ति में हो रही देरी के चलते हटाया गया है. बीसीसीआई ने अपने बयान में कहा, “किसी भी क्रिकेट खिलाड़ी पर सभी तरह के आरोप का मामला सुनने के लिए बीसीसीआई के लोकपाल की जरूरत होती है, लेकिन लोकपाल की नियुक्ति सर्वोच्च अदालत द्वारा लंबित है. इसलिए प्रशासकों की समिति (सीओए) का मानना है कि इन दोनों खिलाड़ियों पर जो अंतरिम प्रतिबंध लगाया गया था, उसे तुरंत प्रभाव से हटाया जाए.”