चोट से जूझ रहे भारतीय टीम के ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) इन दिनों राष्‍ट्रीय क्रिकेट अकादमी (NCA) में हैं और रिहैब की प्रक्रिया से गुजर रहे हैं. बुधवार को एनसीए से भारतीय फैन्‍स के लिए एक अच्‍छी खबर आई. हार्दिक पांड्या ने एनसीए में गेंदबाजी की प्रैक्टिस करना शुरू कर दिया है. न्‍यूज एजेंसी आइएएनएस ने सूत्रों के हवाले से इसकी जानकारी दी. Also Read - एक साथ बायो बबल में इंट्री करेंगे कोहली, रोहित, रहाणे; इस तारीख को स्क्वाड से जुड़ेंगे ऋद्धिमान साहा

हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) का पहले न्‍यूजीलैंड दौरे पर जाना तय माना जा रहा था. बाद में बताया गया कि वो फिटनेस टेस्‍ट में फेल हो गए हैं. फिटनेस टेस्‍ट में फेल होने को लेकर हार्दिक के कोच की तरफ से सफाई भी दी गई, जिसे दरकिनार कर दिया गया था. Also Read - टेस्ट क्रिकेट में पाकिस्तान ने 39 बार किया है यह कारनामा, भारत के पास पहला मौका

पढ़ें:- कुंद पड़ रही जसप्रीत बुमराह की धार! 40 ओवर गेंदबाजी के बावजूद विकेटों की झोली रही खाली Also Read - WTC 2021: इंग्‍लैंड में मौसम बदलते ही पिच भी अलग तरीके से बर्ताव करती है, नील वेगनर ने बताई क्‍या है उनकी तैयारी ?

आईपीएल 2020 (IPL 2020) से पहले मार्च के मध्‍य में साउथ अफ्रीका की (India vs South Africa) टीम भारत आकर सीमित ओवरों की सीरीज खेलेगी. माना जा रहा है हार्दिक इस सीरीज से पहले तक पूरी तरह फिट हो जाएंगे और टीम चयन के लिए उपलब्‍ध रहेंगे.

न्‍यूज एजेंसी के सूत्र ने कहा, “यूके में रुटीन चैकअप कराने के बाद हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) हाल ही में भारत आए हैं. इस सप्‍ताह से उन्‍होंने गेंदबाजी करना शुरू भी कर दिया है. जल्‍द ही वो चयन के लिए उपलब्‍ध हो जाने चाहिए. धर्मशाला में होने वाले साउथ अफ्रीका के खिलाफ पहले वनडे मैच को अभी भी एक महीने का वक्‍त बचा है. तब तक वो पूरी तरह से फिट हो जाएंगे.”

पढ़ें:- नेपाल के सामने वनडे में महज 35 रन पर ढेर हुई अमेरिकी टीम, बना डाला वर्ल्ड रिकॉर्ड

बता दें कि हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) ने एनसीए में जाकर रिहैब की प्रक्रिया से गुजरने के बजाए अपने परिवार के साथ रहते हुए ही सभी प्रक्रियाओं का पालन करने का अनुरोध किया था जिसे मान लिया गया. हालांकि इसके बावजूद वो न्‍यूजीलैंड सीरीज से पहले समय रहते फिट नहीं हो पाए थे.

इसे लेकर विवाद बढ़ने के बाद सौरव गांगुली (Sourav Gangulu) ने हाल के दिनों में कहा था, “मेरी एनसीए अध्‍यक्ष राहुल द्रविड़ से बात हुई है. हमने एक पूरा ढांचा तैयार किया है. चोटिल खिलाड़ी को रिहैब की प्रक्रिया के लिए एनसीए में आना ही होगा. हम इस बात का भी ख्‍याल रखेंगे कि एनसीए में कोई खिलाड़ी खुद को अकेला महसूस न करे.”