नई दिल्ली : ऑस्ट्रेलिया के महान गेंदबाज ग्लेन मैकग्रा ने सोमवार को कहा कि मौजूदा आईसीसी विश्व कप में हार्दिक पांड्या भारत के लिए वही भूमिका निभा सकते हैं जैसी 2011 के सत्र में युवराज सिंह ने निभायी थी. युवराज ने 2011 में गेंद और बल्ले दोनों से योगदान देते हुए दूसरी बार भारत को विश्व चैम्पियन बनाने में अहम भूमिका निभाई थी और वह टूर्नामेंट में ‘मैन ऑफ द सीरीज’ रहे थे. Also Read - Prithvi Shaw में दूसरा Virender Sehwag बनने की क्षमता: पूर्व चयनकर्ता

Also Read - अगर बॉलिंग नहीं कर सकते Hardik Pandya तो छोटे फॉर्मेट में भी फिट नहीं: पूर्व सिलेक्टर

मैकग्रा से जब पूछा गया कि क्या भारतीय टीम को युवराज सिंह की कमी खलेगी जिन्होंने 2011 में सफलतापूर्वक फिनिशर की भूमिका निभाई थी तो मैकग्रा ने कहा, ‘‘पांड्या वह भूमिका निभा सकते है, डीके (दिनेश कार्तिक) भी अच्छे फिनिशर है. मुझे लगता है उनके पास ऐसी टीम है जो अच्छा कर सकती है.’’ Also Read - Tim Paine पर भड़के Saba Karim, बोले- यह बयान 'बचकाना' नहीं बल्कि बड़ी 'बेवकूफी'

वर्ल्ड कप हारने के बाद 2007 में संन्यास लेना चाहते थे, रिचर्डस के फोन ने बदल दिया मन

इस पूर्व तेज गेंदबाज ने कहा, ‘‘उनके गेंदबाजी आक्रमण की बात करें तो जसप्रीत बुमराह वनडे क्रिकेट के सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज है. वह अंतिम ओवरों में और अच्छी गेंदबाजी करते है. उनके पास ऐसी टीम है जो विश्व कप में अच्छा कर सकती है. यह देखना होगा कि वे इंग्लैंड की हालात में कैसा खेलते हैं.’’

बता दें कि टीम इंडिया के ऑलराउंडर खिलाड़ी हार्दिक कई अहम मौकों पर शानदार प्रदर्शन कर चुके हैं. उन्होंने कई मैच जीतने वाली पारियां भी खेली हैं. अगर हार्दिक के इंटरनेशनल वनडे करियर पर नजर डालें तो उन्होंने अब तक 29 पारियों में 731 रन बनाए हैं. इस दौरान उन्होंने 4 अर्धशतक लगाए हैं. हार्दिक का सर्वश्रेष्ठ वनडे स्कोर 83 रन है. इसके अलावा उन्होंने बॉलिंग में कमाल दिखाते हुए 44 विकेट झटके हैं.