नई दिल्ली : इंग्लैंड के खिलाफ शुक्रवार को महिला टी-20 विश्व कप के सेमीफाइनल में भारतीय कप्तान हरमनप्रीत कौर के अनुभवी बल्लेबाज मिताली राज को बाहर रखने की भारतीय क्रिकेट जगत में काफी आलोचना हो रही है. क्रिकेट पंडितों के बाद मिताली राज की मैनेजर अनीशा गुप्ता ने एक ट्वीट के जरिए हरमनप्रीत को आड़े हाथों लिया है और उन्हें ‘अपरिपक्व’, ‘झूठी’ और ‘चालाक’ बताया है. Also Read - Fit India Dialogue: PM मोदी ने विराट कोहली से पूछा, क्या आप को भी YO-YO टेस्ट से गुजरना पड़ता है, जानें टीम इंडिया के कप्तान ने क्या जवाब दिया

Also Read - IPL 2020 के बाद यूएई में ही खेली जाएगी भारत-इंग्लैंड सीरीज

अनीशा ने अपने ट्विट में लिखा है, “दुर्भाग्यवश भारतीय टीम राजनीति में विश्वास करती है न कि खेल में. भारत और आयरलैंड मैच में मिताली राज का अनुभव कितना काम आ सकता था इसको देखने के बाद भी उसने हरमनप्रीत जो ‘अपरिपक्व’, ‘झूठी’ और ‘चालाक’ हैं, को खुश करने के लिए उन्होंने हरमनप्रीत को मन की करने दी.” Also Read - विराट कोहली के बाद टीम इंडिया का अगला कप्तान कौन? आकाश चोपड़ा ने बताया दावेदार का नाम

मेलबर्न में टूटी टीम इंडिया की उम्मीद, पाकिस्तान का रिकॉर्ड तोड़ने का सपना रहा अधूरा

यह ट्विट एक असत्यापित ट्वीटर अकाउंट से आया था. एक क्रिकेट न्यूज वेबसाइट ने जब अनीशा से इस बारे में पूछा कि क्या यह उन्हीं का ट्विट हो तो मैनेजर ने हामी भरी और अपने बयान पर कायम रहीं. हालांकि उनक अकाउंट कुछ घंटे बाद डिलीट कर दिया गया.

वेबसाइट ने अनीशा के हवाले से लिखा है, “मैं नहीं जानती की अंदर क्या चल रहा है लेकिन चूंकि मैचों का प्रसारण हो रहा है तो हम देख सकते हैं कि कौन प्रदर्शन कर रहा है और कौन नहीं. हम देख सकते हैं कि मिताली के साथ अच्छा प्रदर्शन करने के बाद भी क्या हो रहा है. इसके पीछ काफी गहराई है जिसे देखने की जरूरत है.”

INDvsAUS: भुवनेश्वर कुमार की गेंद समझ नहीं पाए आरोन फिंच, देखें किस तरह हुए ‘गोल्डन डक’ के शिकार

जब उनसे पूछा गया कि क्या उन्हें अपने ट्विट पर पछतावा है तो उन्होंने कहा, “हो सकता है कि मैं ज्यादा गुस्से में हूं, लेकिन यह बात सही जगह से आई है क्योंकि मैं गलत के साथ खड़ी नहीं रह सकती. जिस तरह का फेवरेटिजम दिखाया जा रहा वो साफ तौर पर जाहिर है.” भारत को इस मैच में हार का सामना करना पड़ा और उसका पहली बार महिला टी-20 विश्व कप जीतने का सपना टूट गया.