दक्षिण अफ्रीका की रन मशीन बन चुके हाशिम अमला का अपने बल्ले से नया इतिहास लिखना जारी है. अमला ने रविवार को बांग्लादेश के खिलाफ खेले गए पहले वनडे में शानदार शतक जड़ते हुए विराट कोहली का रिकॉर्ड तोड़ दिया. अमला ने इस मैच में अपना 26वां वनडे शतक लगाया और सबसे कम पारियों में इतने शतक जड़ने के मामले में कोहली का रिकॉर्ड तोड़ा. अमला ने अपना 26वां वनडे शतक महज 154वीं पारी में लगाया जबकि कोहली ने इस मुकाम तक पहुंचने के लिए 166 पारियां खेली थीं. इस मामले में तीसरे नंबर पर सचिन तेंदुलकर हैं जिन्होंने 26 वनडे शतक 247 पारियों में लगाए.

ये पहली बार नहीं है कि अमला ने कोहली का रिकॉर्ड तोड़ा है, उन्होंने इससे पहले कुछ ही महीनों पहले वनडे में सबसे तेज 7000 रन बनाने का विराट कोहली का रिकॉर्ड तोड़ा था. अमला ने 7000 वनडे रन 150 पारियों में पूरे किए जबकि कोहली ने इतने रन बनाने के लिए 169 पारियां खेली थीं. रोचक बात ये है कि अमला के नाम वनडे में सबसे तेज 3000, 4000, 5000, 6000 और 7000 रन बनाने का रिकॉर्ड दर्ज है.

दक्षिण अफ्रीका के लिए बनाया सबसे बड़ी साझेदारी का रिकॉर्ड

अमला की इस जोरदार पारी की बदौलत दक्षिण अफ्रीका ने बांग्लादेश से जीत के लिए मिले 279 रन के लक्ष्य को 10 विकेट खोकर हासिल कर लिया. अमला ने क्विंटन डि कॉक (162) के साथ मिलकर पहले विकेट के लिए 282 रन की नाबाद साझेदारी की जो वनडे इतिहास में पहले विकेट के लिए तीसरी सबसे बड़ी साझेदारी है. वनडे में पहले विकेट के लिए सबसे बड़ी साझेदारी का रिकॉर्ड श्रीलंका के सनथ जयसूर्या और उपुल थरंगा के नाम है जिन्होंने 2006 में लीड्स में इंग्लैंड के खिलाफ 286 रन जोड़े थे. इतना ही नहीं ये दक्षिण अफ्रीका के लिए वनडे क्रिकेट में किसी भी विकेट के लिए सबसे बड़ी साझेदारी भी है. इससे पहले 2015 के वर्ल्ड कप में जेपी डुमिनी और डेविड मिलर ने 256 रन की साझेदारी की थी.

डि कॉक ने 13वें शतक के साथ की कोहली के रिकॉर्ड की बराबरी

क्विंटन डि कॉक ने अपनी 86वीं पारी में 13वां वनडे शतक जड़ा और सबसे कम पारियों में 13 वनडे शतक लगाने के मामले में विराट कोहली (86 पारी) के रिकॉर्ड की बराबरी की. डि कॉक ने इस मैच में 145 गेंदों में 21 चौकों और 2 छक्कों की मदद से 168 रन की नाबाद पारी खेली.

दक्षिण अफ्रीका ने दर्ज की सबसे बड़ी जीत

दक्षिण अफ्रीका ने 279 के लक्ष्य का पीछा करते हुए 10 विकेट से जीत हासिल करते हुए नया रिकॉर्ड बनाया. ये वनडे में लक्ष्य का पीछा करते हुए  किसी भी टीम की बिना विकेट गंवाए सबसे बड़ी जीत है. इससे पहले 2016 में एजबेस्टन में इंग्लैंड ने श्रीलंका को 255 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए 10 विकेट से मात दी थी.