न्यूजीलैंड के खिलाफ अपना डेब्यू टेस्ट मैच खेल रहे श्रेयस अय्यर (Shreyas Iyer) ने ग्रीन पार्क स्टेडियम में शतकीय पारी खेलकर अपने आलोचकों को करारा जवाब दिया, ऐसा कहना है उनके कोच प्रवीण आमरे (Praveen Amre) का।Also Read - कई लोगों ने कोहली के कप्तानी छोड़ने की बातें की हैं लेकिन मैं गॉसिप नहीं करना चाहता: रवि शास्त्री

मुंबई के कोच आमरे ने कहा कि अय्यर पर प्रदर्शन करने का काफी दबाव था चूंकि वो भारतीय कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) की जगह कानपुर टेस्ट में खेल रहे थे। हालांकि उन्होंने माना कि उन्हें अय्यर की क्षमता पर हमेशा से ही भरोसा था। Also Read - टीम इंडिया के समर्थन में आए रवि शास्‍त्री, 'हर मैच नहीं जीत सकते, ये अस्‍थाई दौर है'

टाइम्स ऑफ इंडिया से बातचीत में आमरे ने कहा, “मेरा दिमाग आज उस बात पर जा रहा है कि कैसे उसकी 105 रनों की पारी उतनी ही अहम है जितनी की सात साल पहले खेली 75 रनों की पारी थी। हालात समान ही थे।” Also Read - T20 के युग में Virat Kohli ने टेस्ट क्रिकेट में जो जोर लगाया, उसके लिए उन्हें सलाम: Shane Warne

बता दें कि अय्यर ने उत्तर प्रदेश के खिलाफ मैच में 75 रनों की शानदार पारी खेलकर मुंबई को शानदार जीत दिलाई थी। और आज कानपुर टेस्ट में अय्यर की शतकीय पारी की बदौलत भारत ने न्यूजीलैंड के खिलाफ पहली पारी में 345 रन का बड़ा स्कोर खड़ा किया था।

भावुक आमरे ने कहा, “अपने टेस्ट डेब्यू से पहले, उसे पता था कि विराट कोहली अगले मैच के लिए वापस आ जाएंगे और उनकी जगह खतरे में होगी। अब उसके हाथ में जो भी था, वो उसने कर दिया है।”

उन्होंने कहा, “जैसा कि कोच के तौर पर, मैं बेहद खुश हूं क्योंकि ये पारी उसका स्टेटमेंट है कि वो तीनों फॉर्मेट के काबिल है। उसने अपने आलोचकों को दिखाया है कि वो टेस्ट क्रिकेट में भी अच्छा कर सकता है। वो केवल सीमित ओवर फॉर्मेट स्पेशलिस्ट नहीं है।”