भारत के खिलाफ टेस्ट सीरीज के दौरान वर्कलोड मैनेजमेंट के चलते खिलाड़ियों को रोटेट करने की वजह से आलोचना झेलने वाली इंग्लैंड क्रिकेट टीम के कोच क्रिस सिल्वरवुड (Chris Silverwood) ने कहा है कि इंग्लिश क्रिकेटर पूरे आईपीएल टूर्नामेंट में हिस्सा लेने के लिए न्यूजीलैंड के खिलाफ 2 जून को लॉर्ड्स में होने वाले पहले टेस्ट को मिस कर सकते हैं।Also Read - 150 की स्ट्राइक रेट से संजू सैमसन ने पूरे लिए 400 IPL रन फिर भी भारतीय टी20 टीम में क्यों नहीं मिला मौका

ऑलराउंडर बेन स्टोक्स (Ben Stokes), विकेटकीपर जॉस बटलर (Jos Buttler) और तेज गेंदबाज जोफ्रा आर्चर (Jofra Archer) जैसे इंग्लैंड के प्रमुख टेस्ट खिलाड़ी आगामी आईपीएल सीजन में हिस्सा लेने वाली है। अगर उनकी टीम प्लेऑफ में जगह पक्की कर लेती है तो इन खिलाड़ियों को मई के आखिर तक भारत में रुकना पड़ सकता है। यानि कि ये क्रिकेटर न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज के शुरुआती मैचों से बाहर हो सकते हैं। Also Read - राजस्थान रॉयल्स के अच्छे ड्रेसिंग रूम माहौल से मुझे आगे बढ़ने में मदद मिल रही है : रविचंद्रन अश्विन

इस बारे में कोच सिल्वरवुड ने कहा, “हमने अभी टेस्ट सीरीज के लिए टीम चयन के बारे में चर्चा नहीं की है लेकिन मेरे लिए देश के लिए खेलने से बड़ी कोई चीज नहीं है। हालांकि कुछ बदलना मुश्किल है इसलिए वो पूरे आईपीएल के लिए रुकेंगे। देखिए, हम टेस्ट सीरीज की ओर देखेंगे और ये जानने की कोशिश करेंगे कि हमें किस तरह की तैयारियों की जरूरत है और हमने अभी तक ये नहीं किया है। ये ऐसा काम है जो हमें आगे करना है।” Also Read - क्वालिफायर मैच से गुजरात के गेंदबाज शमी ने कहा- पावरप्ले में सही जगह पर गेंदबाजी करना अहम

अगर इंग्लैंड के खिलाड़ी आईपीएल फाइनल खेलकर 30 मई को स्वेदेश लौटते हैं तो उनके पास लाल गेंद से अभ्यास करने के लिए कम से कम तीन दिन होंगे, यानि कि भारत से लौटने वाले खिलाड़ियों का 2 जून को होने वाले पहले टेस्ट में खेलना असंभव है।

ईसीबी को सबसे ज्यादा नुकसान राजस्थान रॉयल्स टीम के आईपीएल फाइनल में पहुंचने से होगा। चूंकि इसका मतलब होगा कि बटलर, स्टोक्स और आर्चर, तीनों खिलाड़ी न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले टेस्ट का हिस्सा नहीं बन सकेंगे।