भारत में कोविड-19 (Covid-19 Pandemic) के बढ़ते मामलों को देखते हुए  इंडियन प्रीमियर लीग (IPL 2020) का आयोजन संयुक्त अरब अमीरात (UAE) में 19 सितंबर से 8 नवंबर 2020 के बीच किया जाना है. Also Read - रूस की तैयार की कोरोना वैक्‍सीन पर दुनिया के कई एक्‍सपर्ट जता रहे संदेह, सामने आईं ये बातें

आईपीएल फ्रेंचाइजी राजस्थान रॉयल्स (Rajasthan Royals) की जगह आगामी सीजन में दिल्ली कैपिटल्स (Delhi Capitals) की ओर से खेलने वाले भारतीय बल्लेबाज अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane) ने कहा कि स्वास्थ्य शीर्ष प्राथमिकता होनी चाहिए. Also Read - लॉकडाउन में मानसून को मिस कर रहे सचिन तेंदुलकर ने लोगों से पूछी उनकी कहानी

रहाणे चाहते हैं कि यूएई में आईपीएल के दौरान उनकी पत्नी और बेटी मौजूद रहें लेकिन कोरोना वायरस महामारी के कारण जोखिम को देखते हुए अगर भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) खिलाड़ियों के परिवारों को प्रतियोगिता से प्रतिबंधित करता है तो उन्हें कोई समस्या नहीं है. Also Read - IPL 2020: दक्षिण अफ्रीका,ऑस्ट्रेलिया के बाद इंग्लिश क्रिकेटर भी नहीं होंगे शुरुआती मैचों का हिस्सा

‘मौजूदा स्थिति में सुरक्षा महत्वपूर्ण है’

रहाणे ने इंडिया टुडे के कार्यक्रम ‘इंस्पिरेशन’ में कहा, ‘व्यक्तिगत तौर पर कोविड-19 (Covid-19) स्थिति को एक तरफ रख दें तो आप चाहते हैं कि आपका परिवार आपके साथ यात्रा करे लेकिन इस स्थिति में सुरक्षा महत्वपूर्ण है, आपकी पत्नी, परिवार और बेटी की सुरक्षा, बेशक आपकी टीम के साथियों की सुरक्षा भी बेहद महत्वपूर्ण है.’

उन्होंने कहा, ‘फिलहाल मुझे लगता है कि सबसे पहले स्वास्थ्य और फिर क्रिकेट बेहद महत्वपूर्ण है. हमने अपने परिवार के साथ चार-पांच महीने (लॉकडाउन के दौरान) बिताए.’

‘फैसला बीसीसीआई और फ्रेंचाइजी  मालिकों को करना है’

रहाणे ने कहा कि खिलाड़ियों के साथ यूएई में परिवारों को आने की स्वीकृति देने का फैसला बीसीसीआई (BCCI) और फ्रेंचाइजी मालिकों को करना है. दिल्ली कैपिटल्स से जुड़ने वाले रहाणे ने कहा कि वह आगामी सत्र में दिल्ली के खिलाड़ियों और मुख्य कोच रिकी पोंटिंग (Ricky Ponting) के साथ काम करने को लेकर उत्सुक हैं.

उन्होंने कहा, ‘मैं दिल्ली कैपिटल्स की ओर से खेलने को लेकर काफी रोमांचित हूं. मुझे मौका मिला है. पिछले साल जब मैं हैंपशर की ओर से खेल रहा था तो दिल्ली कैपिटल्स ने मेरे से पूछा था कि क्या मैं उनके लिए खेलने का इच्छुक हूं.’

‘एक क्रिकेटर के रूप में आप यही चाहते हैं’

रहाणे ने कहा, ‘मैंने समय लिया और मैंने सोचा कि यह मेरे लिए कुछ नया सीखने का मौका है. बेशक दादा (सौरव गांगुली जो आईपीएल 2019 में टीम के मेंटर थे) वहां नहीं होंगे, उस समय मेरा ध्यान इस पर था कि अगर मैं दादा और रिकी पोंटिंग के मार्गदर्शन में खेल पाया तो मैं काफी चीजें सीख सकता हूं. एक क्रिकेटर के रूप में आप यही चाहते हैं.’