भारतीय हॉकी के अंपायर्स मैनेजर वीरेंद्र सिंह का कोविड-19 (Covid- 19) से जुड़ी जटिलताओं के कारण निधन हो गया है. वह 47 साल के थे. उन्होंने उत्तर प्रदेश के मेरठ में सोमवार को अंतिम सांस ली. वीरेंद्र ने अंपायरों के मैनेजर के रूप में कई अखिल भारतीय टूर्नामेंट और राष्ट्रीय चैंपियनशिप में हिस्सा लिया. उनका काम मैचों के लिये सर्वश्रेष्ठ अंपायरों का चयन करना था. इसके अलावा वह रेलवे में कार्यरत थे.Also Read - महिला हॉकी वर्ल्ड कप- सेमीफाइनल में जगह बनाना है लक्ष्य: सविता

हॉकी इंडिया ने उनके निधन पर शोक व्यक्त किया. हॉकी इंडिया के अध्यक्ष ज्ञानेंद्रो निंगोमबाम ने कहा, ‘हम वीरेंद्र सिंह के असामयिक निधन से बेहद दुखी हैं. मैचों से जुड़े काम के अलावा वह अंपायर और तकनीकी अधिकारियों से जुड़े हॉकी इंडिया के कार्यों में सक्रिय रूप से शामिल थे. ‘ Also Read - एशिया कप 2022: संन्यास से लौटे रुपिंदर पाल सिंह एशिया कप में करेंगे भारत की कप्तानी

Also Read - Asia Cup 2022: सिंगापुर को 9-1 से रौंदकर सेमीफाइनल में भारत, गुरजीत की हैट्रिक

वह भारतीय हॉकी के विकास के लिए हॉकी इंडिया के साथ मिलकर कई खास भूमिकाओं में नजर आए. वह हॉकी इंडिया की पहल पर अंपायरों और टेक्निकल ऑफिसरों के साथ भी जुड़े रहे. उनके इस आकस्मिक निधन से हॉकी जगत में शोक की लहर है.

इससे पहले पिछले सप्ताह कोविड-19 बीमारी के ही कारण मशहूर हॉकी सांख्यविद् और इतिहासकार बाबूलाल गोवर्धन जोशी का भी निधन हो गया था.

-भाषा से