हॉस्टन के जॉर्ज आर. ब्राउन कॉनवेन्शन सेंटर में गुरुवार रात एक भव्य उद्घाटन समारोह के साथ 2015 विश्व भारोत्तोलन चैम्पियनशिप की शुरुआत हुई। यह टूर्नामेंट हॉस्टन में अगले नौ दिनों तक चलेगा।अमेरिका पिछले चार दशकों में पहली बार इस तरह की चैम्पियनशिप की मेजबानी कर रहा है। इस टूर्नामेंट में 100 देशों के 600 से अधिक एथलीटों ने हिस्सा लिया। इसमें 15 एथलीट चीन से हैं, जो पुरुषों के आठ और महिलाओं के सात वर्गो में हिस्सा लेंगे।टूर्नामेंट का समापन 28 नवंबर को होगा और 2016 रियो ग्रीष्मकालीन ओलंपिक खेलों में भेजी जाने वाली प्रविष्टि के लिए 2014 की प्रतियोगिता के साथ 2015 की प्रतियोगिता के परिणाम देखें जाएंगे। यह भी पढ़े – एशियन बास्केटबॉल चैम्पियनशिप के फाइनल में पहुंचा चीनAlso Read - दर्दनाक: तीन साल के बच्चे ने अपने आठ महीने के भाई पर चलाई गोली, बच्चे की मौत

Also Read - ह्यूस्टन स्थित चीनी वाणिज्य दूतावास में घुसे अमेरिकी एजेंट, चीन ने कड़ा विरोध जताया

हाल ही के सालों में भारोत्तोलन में वैश्विक तौर पर अग्रणी रहे चीन ने इस प्रतियोगिता में अपने आठ पुरुषों और सात महिलाओं को भेजा है।अंतर्राष्ट्रीय भारोत्तोलन महासंघ के अधिकारियों ने गुरुवार को कार्यकारी बोर्ड सत्र में अगले साल ओलंपिक खेलों में बुल्गेरिया को शामिल होने की अनुमति नहीं दी जाने की घोषणा की।पहला विश्व भारोत्तोलन चैम्पियनशिप 1891 में लंदन में आयोजित किया गया था, लेकिन यह औपचारिक समारोह नहीं था। 1896 में एथेंस में पहले ग्रीष्मकालीन ओलंपिक खेलों के बाद यह औपचारिक हुआ। Also Read - अमेरिका में सलमान खान के लाइव शो में पाकिस्तान बना रोड़ा, भाईजान ने कार्यक्रम किया रद्द