आईपीएल के इस सीजन में अपना खिताब बचाने उतरी मुंबई इंडियंस (MI) के लिए अभी तक यह सीजन शानदार रहा है. मुंबई की टीम प्लेऑफ में अपनी जगह पक्की कर चुकी है और उसके सभी खिलाड़ी शानदार लय में दिख रहे हैं. मुंबई के पास अनुभवी मध्यक्रम है, जिससे उसके ओपनिंग बल्लेबाजों के लिए राहत रहती है. Also Read - Steve Smith ने ODI में भारत के खिलाफ लगाई शतकों की हैट्रिक, ये 3 खिलाड़ी भी कर चुके हैं कारनामा

लेकिन टीम के विकेटकीपर ओपनिंग बल्लेबाज डिकॉक (Quinton De kock) मानते हैं कि टीम का मिडल ऑर्डर मजबूत होने से उनकी मानसिकता में फर्क नहीं पड़ता और न ही इससे ओपनिंग बल्लेबाजों का काम आसान होता है. वह हमेशा अपनी टीम को शानदार शुरुआत देने की कोशिश करते हैं. Also Read - LPL 2020: IPL में फ्लॉप रहे Andre Russell ने 14 गेंदों पर ठोका अर्धशतक, 5 ओवर में बने 96 रन

मुंबई के मध्यक्रम में सूर्यकुमार यादव, हार्दिक पंड्या, कीरोन पोलार्ड और कृणाल पंड्या शानदार फॉर्म में हैं. ये सभी खिलाड़ी टीम को जरूरत पड़ने पर उसके काम आते रहे हैं. Also Read - India vs Australia: IPL में फ्लॉप रही थी कंगारू तिकड़ी, ऑस्ट्रेलिया आते ही बजाया डंका

डिकॉक ने कहा, ‘अनुभवी मिडल ऑर्डर होने से किसी भी परिस्थिति में फायदा मिलता है. लेकिन इससे मानसिकता में फर्क नहीं पड़ता. हम हमेशा सर्वश्रेष्ठ शुरुआत देने की कोशिश करते हैं.’ उन्होंने कहा कि साथ में रोहित शर्मा (Rohit Sharma) हों या युवा ईशान किशन (Ishan Kishan), बल्लेबाजी को लेकर उनकी सोच एक समान रहती है.

इस 27 वर्षीय विकेटकीपर बल्लेबाज ने कहा, ‘बहुत कुछ बदला नहीं है. ईशान और मेरी आपसी समझ भी अच्छी है, जैसे मेरी और रोहित की है. ईशान काफी युवा और प्रतिभाशाली हैं और उनका अच्छा फॉर्म देखकर खुशी होती है.’ डिकॉक ने माना कि इस सीजन की शुरुआत में उन्होंने कुछ गलतियां की थीं लेकिन अब उन्होंने अपनी लय हासिल कर ली है.