आईपीएल के इस सीजन में अपना खिताब बचाने उतरी मुंबई इंडियंस (MI) के लिए अभी तक यह सीजन शानदार रहा है. मुंबई की टीम प्लेऑफ में अपनी जगह पक्की कर चुकी है और उसके सभी खिलाड़ी शानदार लय में दिख रहे हैं. मुंबई के पास अनुभवी मध्यक्रम है, जिससे उसके ओपनिंग बल्लेबाजों के लिए राहत रहती है.Also Read - कौन भारतीय टीम की कप्तानी नहीं करना चाहता! मैं किसी भी जिम्मेदारी को तैयार: Mohammed Shami

लेकिन टीम के विकेटकीपर ओपनिंग बल्लेबाज डिकॉक (Quinton De kock) मानते हैं कि टीम का मिडल ऑर्डर मजबूत होने से उनकी मानसिकता में फर्क नहीं पड़ता और न ही इससे ओपनिंग बल्लेबाजों का काम आसान होता है. वह हमेशा अपनी टीम को शानदार शुरुआत देने की कोशिश करते हैं. Also Read - MS Dhoni का 'क्रिकेटिया दिमाग' सबसे तेज, Greg Chappell ने तारीफ में पढ़े कसीदे

मुंबई के मध्यक्रम में सूर्यकुमार यादव, हार्दिक पंड्या, कीरोन पोलार्ड और कृणाल पंड्या शानदार फॉर्म में हैं. ये सभी खिलाड़ी टीम को जरूरत पड़ने पर उसके काम आते रहे हैं. Also Read - IPL 2022 Auction: अंडर-19 टीम के इन खिलाड़ियों पर हो सकती है 'पैसों की बरसात'

डिकॉक ने कहा, ‘अनुभवी मिडल ऑर्डर होने से किसी भी परिस्थिति में फायदा मिलता है. लेकिन इससे मानसिकता में फर्क नहीं पड़ता. हम हमेशा सर्वश्रेष्ठ शुरुआत देने की कोशिश करते हैं.’ उन्होंने कहा कि साथ में रोहित शर्मा (Rohit Sharma) हों या युवा ईशान किशन (Ishan Kishan), बल्लेबाजी को लेकर उनकी सोच एक समान रहती है.

इस 27 वर्षीय विकेटकीपर बल्लेबाज ने कहा, ‘बहुत कुछ बदला नहीं है. ईशान और मेरी आपसी समझ भी अच्छी है, जैसे मेरी और रोहित की है. ईशान काफी युवा और प्रतिभाशाली हैं और उनका अच्छा फॉर्म देखकर खुशी होती है.’ डिकॉक ने माना कि इस सीजन की शुरुआत में उन्होंने कुछ गलतियां की थीं लेकिन अब उन्होंने अपनी लय हासिल कर ली है.