भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व विस्फोटक सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग (Virender Sehwag) ने खुलासा किया है कि उन्होंने सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) को बीसीसीआई के अध्यक्ष (BCCI President) बनने की भविष्यवाणी 2007 में ही कर दी थी.

कुंबले ने विराट का किया समर्थन, कहा- टेस्‍ट क्रिकेट के लिए हो केवल पांच सेंटर

गांगुली पिछले सप्ताह बीसीसीआई के 39वें अध्यक्ष बने. भारत के पूर्व कप्तान गांगुली निर्विरोध चुने गए हैं. वे जुलाई 2020 तक इस पद पर बने रहेंगे.

द इंडियन एक्सप्रेस में सहवाग ने अपने कॉलम में लिखा, ‘वास्तव में जब मैंने पहली बार दादा के बोर्ड अध्यक्ष बनने के बारे में सुना, तो मुझे 2007 के दक्षिण अफ्रीका दौरे की याद आ गई. केपटाउन टेस्ट जारी था. उस टेस्ट मैं और वसीम जाफर जल्दी आउट हो गए थे. तेंदुलकर को नंबर 4 पर बल्लेबाजी करनी थी, लेकिन वह नहीं उतर सके. गांगुली को बल्लेबाजी करने के लिए कहा गया. टीम इंडिया में उनकी वापसी सीरीज थी, जिसका उन पर दबाव था. लेकिन जिस तरह से उन्होंने बल्लेबाजी की, दबाव और तनाव को संभाला, केवल वही ऐसा कर सकते थे.’

बांग्लादेश के खिलाफ ईडन गार्डंस में अपना पहला Day-Night टेस्ट मैच खेल सकती है टीम इंडिया

41 वर्षीय सहवाग ने लिखा, ‘उस दिन हम सभी ड्रेसिंग रूम में सहमत थे कि अगर हमारे बीच कोई बीसीसीआई अध्यक्ष बन सकता है, तो वह दादा हैं. मैंने कहा कि वह बंगाल के मुख्यमंत्री भी बन सकते हैं. मेरी भविष्यवाणियों में से एक सच हो चला है, अब दूसरे के बारे में देखें…’

गांगुली के सहवाग के इंटरनेशनल करियर को आकार देने में बहुत बड़ी भूमिका थी. सहवाग का कहना है कि कि गांगुली का उनमें यकीन और सपोर्ट ही था जिसने भारत के लिए ओपन करने का आत्मविश्वास पैदा किया.