अबू धाबी। पाकिस्तान के कप्तान सरफराज अहमद ने कहा है कि पिछले हफ्ते उनको एक सटोरिए द्वार दिए गए फिक्सिंग के ऑफर के बारे पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड को बताने के बाद वह चिंतामुक्त भी थे और डरे हुए भी थे. शनिवार को इस मामले का खुलासा होने के बाद उम्मीद के मुताबिक पाकिस्तान की मीडिया और अन्यत्र भी इसकी बहुत चर्चा हुई. मामले की तुरंत जानकारी देने के लिए सरफराज की प्रशंसा की गई लेकिन पाकिस्तान क्रिकेट में फिक्सिंग की घटनाओं को देखते हुए इस खबर ने क्रिकेट जगत में खलबली भी मचाई.

श्रीलंका के खिलाफ पहले टी20 मैच से पहले यहां सरफराज ने इस घटना के बारे में पहली बार बात करते हुए कहा कि इस घटना के बारे में बोर्ड को बताकर वह चिंतामुक्त महसूस कर रहे थे लेकिन टीवी पर इस बारे में लगातार होने वाली चर्चाओं के केंद्र में खुद को देखकर वह थोड़ा डरे हुए भी थे. सरफराज ने कहा, ‘जो होना था वह हो गया और मैंने वही किया जो मुझे करना चाहिए था. मैं इस घटना के बारे में जानकारी देने के बाद डरा हुआ नहीं था. लेकिन, खुद को टीवी पर देखने के बाद मैं डर गया. मेरे बारे में टीवी पर इतनी चर्चा की गई कि मुझे डर लगने लगा. अल्लाह के करम से सब कुछ सामान्य हो रहा है.’

सरफराज ने कहा, ‘जब आप एक सीरीज खेलने जाते हैं तब आपको सामान्य रहना पड़ता है और अब तक सब कुछ सही चल रहा है.’ पाकिस्तान के मुख्य कोच मिकी आर्थर ने कहा था, ‘ईमानदारी से कहूं तो खिलाड़ी (सरफराज) ने घटना के बाद बेहद शानदार प्रतिक्रिया दी और वह सब किया जो उन्हें करना चाहिए था. उस घटना के बाद हम दोनों ने एक दूसरे से सीधे बात की. स्थिति को बहुत अच्छे तरीके से संभाला गया और मैं समझता हूं कि यह विश्व क्रिकेट और हमारी टीम के लिए एक बहुत अच्छा उदहारण है.’