भारतीय टीम के सलामी बल्लेबाज मुरली विजय ने कहा कि वह आस्ट्रेलिया के खिलाफ तीसरे टेस्ट मैच में खेली गई अपनी 82 रनों की पारी को अच्छा नहीं मानते हैं। विजय का मानना है कि वह इस पारी को और आगे बढ़ा सकते थे। भारत ने तीसरे दिन का समापन छह विकेट के नुकसान पर 360 रनों के साथ किया। वह आस्ट्रेलिया के पहली पारी के स्कोर 451 रनों से अभी भी 91 रन पीछे है।

दिन का खेल खत्म होने के बाद विजय ने कहा, “मैं इसे अच्छी पारी में नहीं गिनूंगा, हालांकि मैं विकेट पर लड़ा और यही बात मायने रखती है।”

उन्होंने कहा, “राहुल ने कल अच्छी बल्लेबाजी की थी। मैं उनकी ऊर्जा को अपनाना चाहता था। मैं अच्छी क्रिकेट खेलना चाहता था। आज मैं अपनी पारी को और आगे ले जाना चाहता था।”

विजय ने अपनी पारी में 183 गेंदें खेलीं और शतकवीर चेतेश्वर पुजारा के साथ दूसरे विकेट के लिए 102 रनों की साझेदारी की। पुजारा अभी भी 130 रन बनाकर खेल रहे हैं।

उन्होंने कहा, “पुजारा मजबूती के साथ खेल रहे हैं। उम्मीद है कि वह कल भी अच्छी बल्लेबाजी करेंगे। निश्चित ही रन बनाना मुश्किल था। उन्होंने अच्छी गेंदबाजी की। अगर मैं भोजनकाल के बाद तक होता तो कहानी कुछ और हो सकती थी।”

विजय पहले सत्र की आखिरी गेंद पर आउट हुए। उनके जाने के बाद भारत ने दूसरे सत्र में दो और तीसरे सत्र में दो विकेट खो दिए थे जिससे वह संकट में दिख रही थी लेकिन पुजारा के एक छोर पर रहने से वह भारत अभी भी मैच में बना हुआ है।

विजय ने कहा, “अगर हम बढ़त ले पाते हैं तो मैच हमारे हाथ में होगा।”

विजय ने कप्तान विराट कोहली के खराब फॉर्म के बारे में कहा कि यह सिर्फ समय की बात है। वह जल्द ही वापसी करेंगे।

उन्होंने कहा, “वह विश्व स्तर के खिलाड़ी हैं। उन्हें अपनी फॉर्म में आने में ज्यादा समय नहीं लगेगा।”

कोहली ने पहली पारी में सिर्फ छह रन ही बनाए थे।